किसान-मजदूरदिल्लीदेश

कोरोना लाईव: दस करोड़ खातों में होगा पैसा ट्रांसफर,सरकार कर रही 1.5 लाख करोड़ के राहत पैकेज की तैयारी

नई दिल्ली,(लोकसत्य)। कोरोना वायरस के कारण देश मुश्किल दौर से गुजर रहा है। पूरे देश में कर्फ्यू लगा हुआ है, हर प्रकार की गतिविधियों पर 21 दिनों तक रोक है। ऐसा कोरोना वयरस वायरस फैलने से रोकने के लिए ​किया गया है। इस बीच मोदी सरकार आर्थिक मोर्चे पर बड़ा कदम उठाने जा रही है।

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कोरोना वायरस के कारण भारत सरकार 1.5 ट्रिलियन रुपए (19.6 बिलियन डॉलर) का प्रोत्साहन पैकेज दे सकती है। हालांकि, सरकार ने अभी तक पैकेज फाइनल नहीं किया है, लेकिन प्रधानमंत्री कार्यालय, वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक ऑफि इंडिया के बीच बातचीत जारी है। सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया है कि प्रोत्साहन पैकेज करब 2.3 ट्रिलियन रुपए का हो सकता है, लेकिन इस पर अभी चर्चा की जा रही है। पैकेज का ऐलान इस हफ्ते के आखिर तक किया जा सकता है और उन पैसों को सीधे 100 मिलियन गरीबों के बैंक एकाउंट्स में भेजा जाएगा और लॉकडाउन से प्रभावित व्यवसायियों की मदद के लिए दिया जाएगा।

ऐसा माना जा रहा है कि  सरकार एक अप्रैल से शुरू हो रहे वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए उधार लेने की राशि को भी बढ़ा सकती है, जो वर्तमान में औसत उधार योजना 7.8 ट्रिलियन रुपए की है। सरकार ने रिजर्व बैंक से कहा कि वे जारी किए जा रहे सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदे। यह सरकार का एक ऐसा कदम है जिसे कई दशकों से भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से महंगाई बढ़ने के चलते नहीं उठाया गया है।

भारत में कोरोना को लेकर काफी संकट की स्थिति बनी हुई है। पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। देश में अब तक कोरोना के 605 मामलों की पुष्टि हो चुकी है जबकि 12 लोगों की मौत हो गई है। विश्व के अन्य केन्द्रीय बैंकों की तरह आरबीआई को को भी बॉण्ड खरीदना होगा। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि सरकार केन्द्रीय बैंक के वेज-एंड-मिन्स सुविधाओं का इस्तेमाल कर सकती है, जिसमें आरबीआई की तरफ से पैसे की किल्लत वाले राज्यों को पैसे का ऑफर किया जा सकता है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close