बड़ी खबरेंविदेश

भारतीय संस्कृति में काफी सहिष्णुता और स्वीकार्यता व्याप्त है: अलबन्ना

दुबई, (लोकसत्य)। संयुक्त अरब अमीरात के भारत में राजदूत अहमद अलबन्ना ने कहा कि भारतीय संस्कृति में काफी सहिष्णुता और स्वीकार्यता व्याप्त है और ये दोनों देशों की साझा विशेषता है। यूएई वर्ष 2019 को ‘सहिष्णुता वर्ष’ के रूप में मना रहा है। अलबन्ना ने यह बात दुबई एक्सपो 2020 की शुरुआत से पहले एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के दौरान कही।

यह पूछने पर कि भारत में सहिष्णुता को वह कैसे देखते हैं, अलबन्ना ने कहा, ‘‘सहिष्णुता और स्वीकार्यता के संदर्भ में, मैं यूएई और भारत की संस्कृति में कई समानताएं और कई विशेषताएं देखता हूं, जो हमारी संस्कृतियों में एक जैसी हैं।” राजदूत ने आगे कहा कि यूएई और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार करीब 60 अरब डॉलर हो गया है और अमेरिका तथा चीन के बाद यूएई भारत का तीसरा सबसे बड़ा कारोबारी साझेदार है। उन्होंने कहा, ‘‘यूएई के लिए भारत सबसे अग्रणी साझेदार है। यूएई में 30 लाख से अधिक भारतीय रह रहे हैं।”

अलबन्ना ने इस मौके पर कहा कि एक्सपो 2020 अब से एक साल बाद दुबई में शुरू होगा और यह मध्य पूर्व, उत्तरी अफ्रीका और दक्षिण एशिया में आयोजित होने वाला अपनी तरह का विशिष्ट एक्सपो होगा। उन्होंने कहा, ‘‘हम उम्मीद कर रहे हैं कि एक्सपो 2020 के 6 महीनों के दौरान लगभग 2.5 करोड़ लोग इसमें भाग लेंगे।” उन्होंने कहा कि एक्सपो 2020 में भारतीय दीर्घा की व्यवस्था भारत सरकार देखेगी और यह यूएई में भारत के लिए एक स्थाई दीर्घा होगी।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close