ऑटो

टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण में सहयोग को तैयार है उबर

ऊबर ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (एमओएचएफडब्लू), राज्य सरकारों एवं स्थानीय एनजीओ को अपना सहयोग देने की घोषणा की। इस सहयोग के तहत दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण में मदद करने के लिए 10 करोड़ रु. मूल्य की निशुल्क राइड प्रदान की जाएंगी।

इन निशुल्क राइड्स का उपयोग 60 व 45$ के आयु समूह के को-माॅर्बिडिटी वाले नागरिक एवं भारत के टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण के लिए चयनित लक्षित समूह नजदीकी अधिकृत वैक्सीनेशन केंद्र से आवागमन के लिए कर सकेंगे।

ऊबर के इस अभियान द्वारा आसानी से रिडीम किए जा सकने वाले प्रोमो कोड द्वारा नाजुक नागरिक वैक्सीनेशन केंद्रों तक का सफर आसान व सुरक्षित बना सकेंगे। ऊबर नाजुक एवं वंचित समुदाय के वरिष्ठ नागरिकों को वैक्सीनेशन केंद्रों तक पहुंचाने के लिए अपने एनजीओ पार्टनर, जैसे रॉबिन हुड आर्मी एवं अन्य की मदद भी लेगा।

टीका लगवाने के प्रति संकोच दूर करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को अपने सहयोग के तहत ऊबर अपने ऐप एवं सोशल मीडिया चैनलों द्वारा जागरुकता का प्रसार करेगा। इसके अलावा, ऊबर एक जन सेवा घोषणा (पीएसए) अभियान चलाएगा, जो टीका लगवाने के बाद भी मास्क लगाने, सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करने एवं कोविड से बचने की अन्य सावधानियां रखने के महत्व पर बल देगा।

ऊबर प्लेटफाॅर्म के ड्राइवर्स आवश्यकता एवं नाजुकता के दो मुख्य मापदंड पूरे करते हैं, इसलिए ऊबर ने केंद्र सरकार से निवेदन किया है कि ड्राइवर्स को जल्द से जल्द वैक्सीनेशन प्राप्त हो।

ऊबर एवं साझेदारी की जारी वार्ता के बारे में, माननीय केंद्रीय मंत्री, नितिन गडकरी, सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार ने कहा, ‘‘नागरिकों को वैक्सीन केंद्रों तक आवागमन करने के लिए 10 करोड़ रु. मूल्य की निशुल्क राइड प्रस्तुत करने की ऊबर की प्रतिबद्धता प्रशंसनीय है क्योंकि इससे नाजुक नागरिकों को सुरक्षित मोबिलिटी के विकल्प मिलेंगे। भारत में कोविड-19 से लड़ाई में पब्लिक-प्राईवेट पार्टनरशिप वैक्सीन की पहुंच की बाधा को दूर करने और लोगों को सुरक्षित बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। महामारी की शुरुआत से ऊबर एक जिम्मेदार काॅर्पोरेट नागरिक का दायित्व निभाते हुए अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों एवं नागरिकों के घरों तक आवश्यक सामान की आपूर्ति पहुंचाने में मदद कर रहा है। हम अपने शहरों को फिर से गतिशील बनाने के लिए ऊबर के साथ काम करने के लिए आशान्वित हैं।’’

ऊबर के प्रयासों के बारे में, प्रभजीत सिंह, प्रेसिडेंट, ऊबर इंडिया एवं दक्षिण एशिया ने कहा, ‘‘हम कोविड-19 को फैलने से रोकने के सरकार के प्रयासों में सहयोग करके काफी खुश हैं। इस साझेदारी में हमारे प्रयास जनसंख्या के सबसे नाजुक वर्ग को परिवहन के सुरक्षित व समयबद्ध विकल्प प्रदान करने पर केंद्रित होंगे। दुनिया में ‘रुमूवव्हाटमैटर्स’ की हमारी प्रतिबद्धता के तहत हम वैक्सीनेशन के अभियानों का सहयोग करते रहेंगे, ताकि प्रभावित समुदाय तेजी से महामारी से ठीक हो कर अपना जीवन पुनः स्थापित कर सकें।’’

निशुल्क राइड किस प्रकार लेंः

· ऊबर ऐप में सबसे ऊपर बाईं ओर दिए मेन्यू पर टैप करके ‘वॉलेट’ चुनें।

· बॉटम में ‘ऐड प्रोमो कोड’ चुनें।

· वैक्सीनेशन प्रोमो कोड ऊबर ऐप में सभी यूज़र्स के लिए, 35 शहरों में, हमारे सभी उत्पादों पर लागू होंगे।

· सरकारी या निजी हॉस्पिटल में नजदीकी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय अधिकृत वैक्सीनेशन सेंटर तक वापसी सहित आवागमन करने के लिए प्रोमो कोड डालें।

· राइड्स होम स्क्रीन को नैविगेट करें और पिक-अप/ड्रॉप -ऑफ का स्थान डालें।

· अपनी ट्रिप की पुष्टि करें।

· हर निशुल्क राइड का मूल्य अधिकतम 150 रु. होगा और एक राइडर वैक्सीनेशन से आवागमन के लिए अधिकतम दो निशुल्क राइड ले सकेंगे।

· ट्रिप की पुष्टि करने से पूर्व दिखाए गए अंतिम किराए में छूट की राशि शामिल होगी।

8 मार्च से ऊबर ये निशुल्क राइड चरणबद्ध रूप में भारत के 35 शहरों में प्रस्तुत करेगा। शहरों के विवरण के लिए न्यूज़रूम पोस्ट देखें।

महामारी फैलने के साथ ही ऊबर ने स्थानीय अधिकारियों, सिविल सोसायटी समूहों और राज्य सरकारों को ‘रुमूवव्हाटमैटर्स’ के तहत आवागमन सुनिश्चित करने में मदद करने के लिए अनेक अभियानों की घोषणा की।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close