बिज़नेसमध्य प्रदेशराज्य

जशपुर में चाय की खेती के साथ कॉफी उत्पादन की भी तैयारी

पत्थलगांव (लोकसत्य) छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले की अनुकुल जलवायु में चाय की खेती की सफलता के बाद वन विभाग ने यहां कॉफी के पौधों का उत्पादन पर भी काम शुरू कर दिया है।वन मंडल अधिकारी कृष्ण कुमार जाधव ने आज यूनीवार्ता को बताया कि यहां चाय बगानों में लगाए गए कॉफी के पौधों की अच्छा ग्रोथ देख कर अब वन विभाग द्वारा ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में नई रोपणी तैयार कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि आंध्र प्रदेश के विशेषज्ञों ने जशपुर जिले में कॉफी के पौधों का अवलोकन करने के बाद यहां चाय के साथ कॉफी उत्पादन की अच्छी संभावना की बात कही है।

वन विभाग ने यहां आंध्र प्रदेश के विशेषज्ञों से स्थानीय महिला स्व सहायता समूह की सदस्यों को प्रशिक्षण भी दिलाया है। इसके बाद मनोरा क्षेत्र में लगभग आधा एकड़ क्षेत्र में कॉफी के पौधों का रोपण किया गया है। सघन पेड़ों की छांव के क्षेत्र में कॉफी के पौधों की देख रेख स्थानीय लोग ही कर रहे हैं।उन्होंने बताया कि जशपुर के सारूडीह क्षेत्र में स्थानीय स्व सहायता समूह अपनी 20 एकड़ निजी भूमि पर चाय की खेती की जा रही है। वन विभाग ने इस चाय बगान को विकसित कर मनोरा के कांटाबेल क्षेत्र में 40 एकड़ रकबे में चाय बगान तैयार कर किया है। यहां चाय के उत्पादन के बाद 47 लाख रूपयों की लागत से प्रोसेसिंग प्लांट भी लगाया गया है। इसमें प्रतिदिन 250 किलो चाय का उत्पाद होगा।जाधव ने बताया कि जशपुर जिले में वन विभाग द्वारा चाय और कॉफी का उत्पादन से 100 से अधिक स्थानीय महिला स्व सहायता समूह को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close