बड़ी खबरेंबिज़नेस

Business: Jio में गूगल का 7.73 प्रतिशत का,दोनों मिलकर India को करेंगे 2G मुक्त

मुंबई (लोकसत्य)। Asia के सबसे अमीर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के अध्यक्ष Mukesh Ambani ने बुधवार को अनुषंगी इकाई Jio Platform में अमेरिका की सोशल मीडिया की दिग्गज Google के 33737 करोड रुपये के निवेश और India को 2G से मुक्त कराने और सस्ते 4G और 5G Android Phone  करने का ऐलान किया।
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के साये में Reliance की 43 वीं आम बैठक को वर्चुअल प्लेटफार्म पर आज संबोधित करते हुए ऐलान किया कि Jio Platform में Google 7.73 प्रतिशत के लिये 33737 करोड रुपये का निवेश करेगी।
Ambani ने Reliance को पूरी तरह कर्जमुक्त होने की घोषणा करते हुए कहा कि पूंजी जुटाने का लक्ष्य पूरा हुआ औरJio Plateform में हिस्सेदारी बिक्री, राईट्स इश्यू और बी पी के निवेश को मिलाकर कुल दो लाख  हजार 809 करोड रुपए जुटाए गये। इसमें से 13 निवेशकों के 14 प्रस्तावों से कुल 152055.45 करोड रुपये औरJio Plateform में 32.97 प्रतिशत इक्विटी बिक्री से जुटाये गए हैं।
जियो प्लेटफॉर्म्स संभवतः पहली कंपनी है जिसमें Facebook  और Google दोनों हिस्सेदार हैं।
Ambani ने भारत को 2G मुक्त करने की घोषणा करते हुए कहा कि गूगल के साथ मिलकर एंड्रॉयड बेस्ड स्मार्टफोन के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम बनाएंगे। दोनों की साझेदारी से भारत 2जी मुक्त होगा।
उन्होंने कहा कि हमारा मकसद सभी भारतीय के हाथों में स्मार्टफोन देना है। भारत में करीब 35 करोड़ 2जी फीचर फोन उपभोक्ता हैं। गूगल और जियो मिलकर इन लोगों के लिए सस्ता स्मार्टफोन बनाएगी। जियो का मकसद 30 करोड़ लोगों को 2जी से 4जी में अपग्रेड करना है। उन्होंने कहा कि जियोफोन अभी भी दुनिया का सबसे अफॉर्डेबल 4जी स्मार्टफोन है।
अध्यक्ष ने कोरोना को इतिहास का सबसे बड़ा संकट बताते हुए उम्मीद जताई कि भारत और विश्व
जल्दी ही इससे उबरने में कामयाब रहेगी। उन्होंने कहा कि 50 लाख ग्राहकों ने जियोमीट को डाउनलोड किया है। इसे जियो की युवा टीम ने हाल में विकसित किया है। उन्होंने कहा कि जियो ने घरेलू तकनीक से 5जी सॉल्यूशन विकसित किया है और दूसरे देशों को इसका निर्यात किया जाएगा। श्रीअंबानी ने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के विजन को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि जियो फाइबर से 10 लाख से अधिक घर जुड़ गए हैं।
गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी Sundar Pichai ने वीडियो संदेश में कहा कि भारत जैसे देश में सभी के पास इंटरनेट होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जियो और गूगल की पार्टनरशिप से ऐसे लाखों भारतीयों को भी इंटरनेट मिल सकेगा जिनके पास स्मार्टफोन नहीं है। श्री अंबानी ने कहा जियो ने एक संपूर्ण 5जी सॉल्यूशन तैयार किया है जो अगले साल तक उपभोक्ता के लिए लाया जा सकता है। सरकार की तरफ से 5जी स्पेक्ट्रम उपलब्ध करने के बाद इसका परीक्षण कर ग्राहक के लिए उपलब्ध करा दिया जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि सरकार की तरफ से स्पेक्ट्रम उपलब्ध कराए जाने के बाद जियो प्लेटफॉर्म दुनिया के दूसरी दूरसंचार कंपनियों को भी 5जी सॉल्यूशन निर्यात कर सकेगा।
फेसबुक के बाद गूगल का दूसरा सर्वाधिक राशि का निवेश है। फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 9.99 प्रतिशत इक्विटी के लिए 43754 करोड रुपए का निवेश किया है।
गूगल ने भारत में 75,000 करोड़ रुपये निवेश का ऐलान किया है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गूगल सीईओ सुंदर पिचाई से बातचीत के बाद कंपनी ने भारत के डिजिटल इकोसिस्टम में 10 अरब डॉलर अर्थात 75,000 करोड़ रुपये निवेश का ऐलान किया ।
जियो प्लेटफार्म्स में निवेश का सिलसिला 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था। उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला और सिल्वर लेक ने इसमें निवेश किया। बाद में अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी, टीपीजी, एल कैटरटन, पीआईएफ और इंटेल ने भी निवेश की घोषणा की। हाल ही में क्वालकॉम वेंचर्स ने जियो प्लेटफार्म्स में 0.15 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 730 करोड़ रुपये का निवेश का ऐलान किया है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close