बिज़नेस

नोटबंदी के बाद से 300 प्रतिशत बढ़ा डिजिटल लेनदेन

मुंबई, (लोकसत्य)। नोटबंदी के बाद पिछले तीन साल में डिजिटल लेनदेन की संख्या 318 फीसदी बढ़कर 2,800 करोड़ के पार तथा डिजिटल लेनदेन की राशि 167 प्रतिशत बढ़कर 300 लाख करोड़ रुपये के पार पहुँच गयी है।

भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के तीन साल पूरा होने के अवसर पर शुक्रवार को डिजिटल लेनदेन के तीन साल के वार्षिक आँकड़े जारी किये। इनमें बताया गया है कि डिजिटल लेनदेन की संख्या में सितंबर 2016 से सितंबर 2019 के बीच 61 प्रतिशत की सालाना दर से वृद्धि हुई है। अक्टूबर 2015 से सितंबर 2016 के बीच 680 करोड़ डिजिटल लेनदेन हुये जिनकी संख्या अक्टूबर 2018 से सितंबर 2019 के बीच 2,846 करोड़ पर पहुँच गयी।

आँकड़ों के अनुसार, अक्टूबर 2015 से सितंबर 2016 के बीच हुये डिजिटल लेनदेन की कुल राशि 113 लाख करोड़ रुपये रही थी जो अक्टूबर 2018 से सितंबर 2019 के बीच 302 लाख करोड़ रुपये पर पहुँच गयी।

आरबीआई ने बताया कि पिछले एक साल में गैर-नकदी लेनदेन में 96 फीसदी डिजिटल माध्यमों से हुई। इस दौरान 2,846 करोड़ लेनदेन में 252 करोड़ एनईएफटी और 874 करोड़ यूपीआई के माध्यम से हुआ। एनईएफटी लेनदेन 20 प्रतिशत और यूपीआई लेनदेन 263 प्रतिशत बढ़ा है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close