कोरोना वायरसदिल्लीदेश

Delhi HC: Tabligi Jamaat से जुड़े विदेशियों को जबरन क्यों किया गया Quarantine ?

नई दिल्ली (लोकसत्य)। राजधानी दिल्ली (delhi) में तबलीगी जमात (tabligi jamaat) से जुड़े 916 विदेशियों को जबरन क्वारंटीन (quarantine) करने के मामले की दिल्ली हाईकोर्ट( delhi hc) में सुनवाई हुई। दिल्ली पुलिस (delhi police) की तरफ हाईकोर्ट को बताया गया है कि 900 से अधिक विदेशी नागरिकों को गृह मंत्रालय (home ministry)की तरफ से ब्लैक लिस्ट (black list)किया जा चुका है। दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को बताया है कि 946 विदेशी नागरिकों के खिलाफ वह जल्द ही कोर्ट में चार्जशीट दायर करने वाली है। याचिकाकर्ताओं की तरफ से आज कोर्ट में कहा गया कि क्वारंटीन सेंटर से अलग किसी जगह इन विदेशी नागरिकों को शिफ्ट किया जा सकता है और जमात इन सब का खर्चा खुद उठाने के लिए तैयार है।

इस पर हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस को गुरुवार को अपना जवाब दाखिल करने को कहा है। गुरुवार को ही इस मामले की दोबारा हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट को बताया कि इस मामले में लीगल नोटिस देकर 900 से ऊपर विदेशी नागरिकों को जांच में शामिल होने के लिए पूछताछ की गई है। पूछताछ के आधार पर पता चला है कि सभी टूरिस्ट वीजा या ई-वीजा पर भारत आए थे। फिलहाल किसी भी विदेशी नागरिक को ना तो गिरफ्तार किया गया है और ना ही हिरासत में लिया गया है।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि 723 विदेशी नागरिकों के पासपोर्ट को अब तक जब्त किया गया है। 23 नेपाली नागरिकों के आई कार्ड जब्त किए गए हैं, जबकि बाकी और जमात से जुड़े विदेशी नागरिकों के पासपोर्ट जब्त करने के लिए पुलिस प्रयासरत है। दिल्ली पुलिस ने आज अपनी स्टेटस रिपोर्ट में हाई कोर्ट को बताया कि कोरोना को लेकर राज्य सरकार 16 मार्च को ही गाइडलाइंस जारी कर चुका है, लेकिन मौलाना साद ने 21 मार्च में एक ऑडियो जारी करके सभी जमातियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करने और सरकार की बात ना मानने की तकरीर की।

दिल्ली हाईकोर्ट उस याचिका पर सुनवाई कर रहा है, जिसमें 900 से ऊपर जमात से जुड़े विदेशी नागरिकों ने कोरोना का टेस्ट नेगेटिव आने के बाद भी उन्हें जबरन क्वारंटीन सेंटर में रखने को लेकर सवाल उठाया है। याचिकाकर्ताओं की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट में उनका पक्ष रखने के लिए बतौर वकील पेश हुई रेबेका जॉन गुरुवार को उन जगहों को लिस्ट हाइकोर्ट को देंगी, जहां पर 900 से अधिक विदेशी नागरिकों को क्वारंटीन किया गया है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close