उत्तर प्रदेशकोरोना वायरसराज्य

UP: कोरोना संक्रमण से 20 और मौतें, संक्रमण के मामले 12,616

लखनऊ (लोकसत्य)। UP में Covid-19 संक्रमण से 20 और मौतों के साथ ही शुक्रवार को मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 365 हो गया जबकि संक्रमण के मामले बढकर 12,616 हो गये। वहीं दूसरी ओर कोविड-19 की त्वरित जांच के लिए प्रदेश के सभी 75 जनपदों के जिला अस्पतालों में ट्रूनेट मशीनें स्थापित कर दी गयीं हैं। इस मशीन के माध्यम से मात्र 40 मिनट में जांच रिपोर्ट आ जायेगी।

प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने यहां बताया कि UP में इस समय संक्रमण के 4642 उपचाराधीन मामले हैं। अब तक 7609 लोग पूर्णतया उपचारित होकर अस्पतालों से छुटटी पा चुके हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण की वजह से अब तक 365 मौतें हो चुकी हैं जबकि संक्रमण के कुल मामले 12,616 हैं। उन्होंने बताया कि टेस्टिंग (Testing) के मामले में प्रदेश में बृहस्पतिवार को फिर एक नया कीर्तिमान स्थापित हुए। बृहस्पतिवार को 15,607 नमूनों की जांच की गयी। अब तक कुल 4,19,994 नमूनों की जांच की जा चुकी है।

उन्होंने बताया कि कुल 4545 लोगों को एकांतवास(Isolation) में रखा गया है और उनका इलाज विभिन्न मेडिकल कालेजों एवं चिकित्सालयों में चल रहा है। कुल 7897 लोगों को Quarntine में रख गया है। ये वो लोग हैं, जो किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये हैं या हॉटस्पाट क्षेत्रों में रह रहे हैं या फिर संक्रमण की दृष्टि से संवेदनशील हैं। अगर कोरोना संक्रमण का कोई लक्षण मिलता है तो ऐसे लोगों की जांच करायी जाती है और अगर संक्रमित पाये जाते हैं तो उन्हें एकांतवास में रखते हुए अस्पताल में उपचार कराया जाता है। प्रमुख सचिव ने कहा कि ये देखा जा रहा है कि जो समय से जांच इलाज करा रहे हैं, उन्हें कोई जटिलता नहीं हो रही है और वे पूर्णतया उपचारित होकर घर जा रहे हैं। जो इस संक्रमण को छिपा रहे हैं और आखिरी समय पर अस्पताल आ रहे हैं, उनमें जटिलताएं हो रही हैं और किसी-किसी की मौत भी हो जा रही है। उन्होंने कहा कि ऐसे में इस संक्रमण को ना तो छिपाइये और ना ही कोई हीन भावना मन में रखिये। ये एक संक्रामक बीमारी है और किसी को भी हो सकती है इसलिए शर्मिन्दा होने की आवश्यकता नहीं है। तत्काल सामने आइये और अपनी जांच कराइये।

प्रमुख सचिव ने बताया कि बृहस्पतिवार को पूल टेस्टिंग (Pool Testing) के माध्यम से पांच पांच सैम्पल के 1148 पूल लगाये गये जबकि दस दस सैम्पल के 90 पूल लगाये गये और कुल 6640 सैम्पल जांचे गये। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप का लगातार उपयोग किया जा रहा है। इसके जरिए जिन लोगों को एलर्ट आये हैं, ऐसे 74,878 लोगों को स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से फोन कर हाल चाल जाना गया और उचित सलाह दी गयी। उन्होंने बताया कि आशा कार्यकर्ताओं ने 15,52,199 प्रवासी श्रमिकों और कामगारों के घर घर जाकर सर्वेक्षण किया है। सर्विलांस का कार्य भी निरंतर चल रहा है। हॉटस्पाट और गैर हॉटस्पाट क्षेत्रों में 89,22,124 घरों में 4,54,05,904 लोगों का सर्वेक्षण किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अब प्रदेश के सभी 75 जनपदों के जिला अस्पतालों में ट्रूनेट मशीनें लग गयी हैं। इन मशीनों के माध्यम से कोविड-19 संक्रमण की जांच आसानी से होगी। उन्होंने कहा कि जो लोग इस संक्रमण से पूरी तरह उपचारित हो चुके हैं और अब उनमें किसी तरह का खतरा नहीं रहा है यानी वे इस संक्रमण पर विजय प्राप्त कर चुके हैं, ऐसे लोगों से अनुरोध है कि वे संक्रमण की रोकथाम में आगे आयें, स्वयंसेवी बनें और इसके लिए जिला प्रशासन या मुख्य चिकित्सा अधिकारी के यहां अपना नाम दर्ज करायें। हम समाज में जागरूकता पैदा करने तथा लोगों को समझाने के लिए कोरोना विजेताओं का उपयोग करना चाहेंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close