एजुकेशनबड़ी खबरें

मूक-बधिरों के लिए संस्थान खोलना चाहती हैं टॉपर पूजा

नयी दिल्ली, लोकसत्य। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 12वीं कक्षा के परीक्षा में राजधानी के सरकारी स्कूलों में कॉमर्स स्ट्रीम की टॉपर पूजा सिंह भविष्य में मूक-बधिरों के लिए ऐसा प्रशिक्षण संस्थान खोलना चाहती हैं जिसमें उनकी प्रतिभा को निखार कर उन्हें रोजगार मुहैया कराया जा सके।
सर्वोदय कन्या विद्यालय रूप नगर नंबर-1 की छात्रा पूजा ने 500 में से 481 अंक हासिल कर 96.2 प्रतिशत के साथ टॉप किया है। पूजा के माता पिता दोनों ही मूक-बधिर हैं। वे न ही बोल सकते हैं और न ही सुन सकते हैं। पूजा के मामा और मौसी भी मूक- बधिर हैं। पूजा के पिता प्रशांत कुमार सिंह दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग में ऑफिस अटेंडेंट के पद पर कार्यरत हैं। उनकी माँ धारा सिंह एक गृहिणी हैं।
पूजा ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और नानाजी को देते हुए कहा, “मेरे माता-पिता मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा हैं जिन्होंने मुझे लगातार कड़ी मेहनत और बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित किया।” उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय स्कूल और ट्यूशन के शिक्षकों को भी दिया है।
पूजा ने यूनीवार्ता से बातचीत में कहा, “स्कूल के शिक्षकों ने पढ़ाई में मेरी बहुत मदद की और लगातार मेरा मनोबल बढ़ाया। किसी भी तरह की समस्या के समाधान के लिए शिक्षक हमेशा उपलब्ध रहे।” पूजा ने अपनी इस सफलता के लिए अपने ट्यूशन के शिक्षकों को भी विशेष रूप से धन्यवाद दिया।
पूजा ने मूक-बधिर लोगों को प्रतिभाशाली बताते हुए कहा, “ये लोग बोल और सुन नहीं सकते इसका मतलब यह नहीं है कि यह लोग काबिल नहीं हैं। इन लोगों में भी प्रतिभा और क्षमता होती है, लेकिन दुनिया इनकी उपेक्षा करती है और इन्हें जल्दी कोई नौकरी भी नहीं देता।” वह कहती हैं कि वह अपने जीवन में धन अर्जित कर इन लोगों के लिए एक ऎसा संस्थान खोलना चाहती हैं जिसमें इनकी प्रतिभा को निखार कर इन्हें रोजगार मुहैया कराया जा सके।
पूजा ने कहा कि उनके नानाजी ने उन्हें आर्थिक मदद करने के अलावा हमेशा उनका मनोबल बढ़ाया। पूजा बैंक के अलावा अन्य महत्वपूर्ण कामों में भी अपने माता-पिता की मदद करती हैं। पूजा ने अपने माता पिता से ही मूक-बधिर लोगों की सांकेतिक भाषा सीखी है। पूजा के परिवार में माता-पिता के अलावा उसका एक छोटा भाई भी है जो पांचवी कक्षा में पढ़ता है।
भविष्य में अपने करियर में पूजा क्या करना चाहती हैं, इस सवाल का जवाब देते हुए पूजा ने कहा, “मैं दिल्ली विश्वविद्यालय के श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में स्टैटिस्टिक्स ऑनर्स में एडमिशन लेना चाहती हूं और साथ में एक्चुरियल साइंस का कोर्स भी करना चाहती हूं।” पूजा को गणित और अर्थशास्त्र में विशेष रूचि है। उन्होंने अर्थशास्त्र में 100, गणित में 99, अकाउंटस में 95, बिजनेस स्टडीज में 95, और अंग्रेजी में 92 अंक हासिल किए हैं। उन्हें खाली समय में उपन्यास पढ़ना और बैडमिंटन खेलना पसंद है।

रवि, यामिनी

वार्ता

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close