चुनावदिल्लीबड़ी खबरें

सीएम ने कहा, गधा और टुच्चा तो छोड़ दी विधायकी

प्रदेश भाजपा मुख्यालय में पटका पहनाकर भाजपा ज्वाइन कराते केंद्रीय मंत्री विजय गोयल व प्रभारी श्याम जाजू।

भूपेन्द्र पांचाल

नई दिल्ली, लोकसत्य। आगामी 12 मई को दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर चुनाव होने जा रहे हैं। दिल्ली की तीनों बड़ी पार्टियों भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने प्रत्याशियों की जीत के लिये धुआंधार प्रचार शुरू कर दिया है। लेकिन दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी को चुनाव के वक्त एक बड़ा झटका लगा है जिसका बड़ा असर चुनावों में देखने को मिलेगा। आम आदमी पार्टी के गांधी नगर से विधायक और ईस्ट दिल्ली जिला विकास समिति के चेयरमैन अनिल बाजपेई ने अपनी विधायकी छोड़ते हुये भाजपा ज्वाइन कर ली है। भाजपा ज्वाइन करते हुये बाजपेई ने दिल्ली सीएम पर गंभीर आरोप लगाते हुये और विधायकी छोड़ने की बड़ी वजह बताई जिसको सुनकर सभी दंग रह जायें।

आप के पूर्व विधायक बाजपेई ने भाजपा प्रदेश मुख्यालय में केंद्रीय मंत्री विजय गोयल और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व दिल्ली प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू के नेतृत्व में पार्टी ज्वाइन की। इस अवसर पर पूर्व विधायक बाजपेई ने कहा कि उनका आम आदमी पार्टी से मोह इसलिये भंग हो गया है कि वह अपने सिद्धांतों से भटक गई है। इतना ही नहीं सिद्धांतों की बात करने वाले पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्वयं चुने हुये जनप्रतिनिधियों का सम्मान तक नहीं करते हैं। उन्होंने सीएम केजरीवाल पर सीधे तौर पर गंभीर आरोप लगाते हुये कहा कि पार्टी में मुझे कई बार अपमानित किया गया है। मुख्यमंत्री केजरीवाल विधायकों को सम्मान बिल्कुल नहीं करते जबकि विधायक जनता के बीच से चुनकर आया है और वह क्षेत्र का सम्मानित जनप्रतिनिधि होता है। जैसे सीएम जनता के बीच से चुनकर आयें हैं वैसे ही दूसरे विधायक भी चुनकर आये हैं। लेकिन सीएम केजरीवाल इन सम्मानित विधायकों को गधा और टुच्चा कहते हैं।

बाजपेई ने अपनी पीड़ा और पार्टी में रहकर महसूस की घुटन को उजागर करते हुये कहा कि वह सही मायने में पार्टी में घुटन महसूस कर रहे थे। हम विधायक गधा, टुच्चा जैसे अपशब्द सुनने के लिये नहीं आये हैं। कई विधायक पार्टी में घुटन और अपमान में जी रहे हैं।

इसके अलावा पूर्व विधायक बाजपेई ने ईस्ट दिल्ली से आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी आतिशी पर भी विधायकों का सरेआम अपशब्द व अपमानित करने वाले शब्दों का प्रयोग करने के गंभीर आरोप लगाये हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि आतिशी विधायकों को बेवकूफ कहती हैं। भाजपा ज्वाइन करने के बाद यह भी कहा कि उन्होंने अब राहत की सांस ली है। वह अब खुलकर आम आदमी पार्टी के ईस्ट दिल्ली लोकसभा से प्रत्याशी पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर का प्रचार करेंगे।  

बाजपेई ने उन सभी आरोपों को भी खारिज किया जो कि आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर विधायकों को खरीद-फरोख्त करने के लगाये हैं। उन्होंने कहा कि यह सभी आरोप पूरी तरह से झूठे हैं। विधायकों को खरीदा नहीं जा रहा बल्कि वह अपना सम्मान बचाने की जद्दोजहद में फंसे हैं।  

उन्होंने आम आदमी पार्टी पर लोकसभा चुनाव में तुष्टिकरण की राजनीति करने का भी गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली के इमामों व मुअज्जिनों का वेतन बढ़ाने का फैसला भी एक साजिश के तहत किया गया है। उन्होंने कहा कि इमामों व मुअज्जिनों का वेतन बढ़ाकर आम आदमी पार्टी मुस्लिमों का वोट पाने का षड़यंत्र रच रही है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close