लाइफस्टाइलहेल्थ

कोरोना के अलावा ये बीमारी भी है सबसे घातक, पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली (लोकसत्य)। साल 2020 हम सब किये सबसे ज्यादा बुरा रहा है। इस की शुरुआत से ही कोविड-19 महामारी इस कदर दुनियाभर में फैली और लाखों लोगों को अपना शिकार बना लिया। कोरोना वायरस का कहर दुनिया के एक-एक आदमी को डरा कर रख दिया था। ये बिमारी एक ऐसा कहर बनकर पूरी दुनिया में उभरी जिसके बारे में ना तो किसी ने सोचा था और ना ही सपने में भी किसी की महसूस किया था। साल 2020 में वैसे तो कोई यादगार चीज़ नहीं हुई लेकिन आने वाले वक़्त में अगर किसी ने कुछ पूछा भी जो की यादगार होगा तो वो ज़ाहिर तौर पर कोरोना वायरस महामारी ही होगी सबके लिए।

आपको बता दे कि इस महामारी में लाखों लोग हताहत हुए, कई की जान तक चली गई है और कोरोना वायरस ने कइयों के जीवन के अन्य क्षेत्रों पर भी एक दुर्भाग्यपूर्ण प्रभाव डाला है। आपको बता दे कि इस महामारी को अब तक का सबसे बड़ी महामारी के रूप माना जाता है। लेकिन सबसे अच्छी बात ये रही की लगभग आज एक साल के बाद कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीन तो ज़रूर आ ही गई है, लेकिन इन सब के बावजूद भी कई लोगों को ये भी डर है कि कहीं ऐसा ना हो कि ये वायरस कभी ख़त्म ही ना हो।

वैसे हम आपको बता दें कि सिर्फ कोरोना ही ऐसी बीमारी नहीं है जिस का ख़तरा हम सबकी की ज़िंदगी पर पहले से बना हुआ है। दुनिया में अब भी बहुत सी बीमारियां हैं, जो की कोरोना से कहीं ज़्यादा घातक मानी जाती है -:

आपको बता दे कि लासा बुखार एक वायरल संक्रमण का बुखार है जो की रक्त से जुडी बीमारीयो के लक्षणों का सबसे बड़ा कारण बनता है। इस बीमारी के बारे में सबके बड़ी ख़तरनाक बात ये है कि हर 5 लोगों में से 1 आदमी लासा बुखार से संक्रमित आदमी के लिवर, स्पलीन और गुर्दे में जानवेला ख़तरा पैदा कर देता है। ये जो लासा बुखार है जो आसानी से फैल जाता है क्योंकि ये घरेलू सामान, मूत्र, मल, ब्लड के माध्यम से फैल जाता है। अफ्रीका में ये बीमारी अब तक हज़ारों लोगों की जान ले चुकी है और अब तक इसकी कोई भी वैक्सीन नहीं बनी है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close