लाइफस्टाइल

जानें पियर्सिंग यानी छेदन के फायदे…

नई दिल्ली (लोकसत्य) जहाँ पहले सिर्फ लड़कियां ही कान में या नाक में छेद कराया करती थी वहाँ अब लड़के भी इस चीज़ में कुछ पीछे नहीं रहे। कान और नाक के छेद तो मानो आम सी बात हो गयी है आजकल तो लोग शरीर के ऐसी ऐसी हिस्सों पर पियर्सिंग करवाते हैं जिसके बारे में हमे अंदाजा भी नहीं होगा। एलाइने  डैविडसन दुनिया की ऐसी इकलौती औरत हैं जिन्होंने सबसे ज़्यादा पियर्सिंग करने की लिस्ट में पहले नंबर पर अपना नाम दर्ज किआ है। एलाइने ने अपने चेहरे के लग भग हर हिस्से पर छेदन करा रखा है। उनका चेहरा इस वजह से काफी अजीब  लगता है।चेहरे को छोड़ लोग आजकल पूरे शरीर पर पियर्सिंग कराते हैं, चाहे हो गाला हो, नाभि हो या शरीर का कोई और हिस्सा।
पर पहले की महिलाएं सिर्फ कान और नाक में ही छेदन कराती थी और वो किसी फैशन या ट्रेंड के चलते ऐसा नहीं करती थी बल्कि इसके फायदों की वजह से ऐसा करती थी।क्या आप जानते की भेदी, छेदन या अंग्रेज़ी में कहें पियर्सिंग ये केवल फैशन ट्रेंड के साथ बने रहने का माध्यम नहीं है बल्कि इसके कई शारीरिक फायदे भी हैं। आयुर्वेद के मुताबिक, कान छिदवाने से रिप्रोडक्टिव ऑर्गन हेल्दी रहते हैं। साथ ही इम्यून सिस्टम भी मजबूत बनता है।
कान छिदवाने के फायदे

1.एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट के मुताबिक, कान के निचले हिस्से पर Master Sensoral एंड Master cerebral नाम के 2 इयर लोब्स होते हैं। इस हिस्से के छिदने पर बहरापन दूर हो जाता है।

2. कान छिदवाने से आंखों की रोशनी तेज होती है। दरअसल, कान के निचले हिस्से में एक प्वॉइंट होता है। इस प्वॉइंट के पास से आंखों की नसे गुजरती हैं। जब कान के इस प्वॉइंट को छिदवाते हैं तो इससे आंखों की रोशनी तेज होने में मदद मिलती है।


3. कान छिदने से तनाव भी कम होता है। क्योंकि कान के निचले हिस्से पर दबाव पड़ने से तनाव कम होता है। साथ ही दिमाग की अन्य परेशानियों से भी बचाव होता है।

4. वैज्ञानिकों के मुताबिक, कान छिदने से लकवा जैसी गंभीर बीमारी होने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

5. कान के निचले हिस्से में मौजूद प्वॉइंट हमारे मास्तिष्क से जुड़ा हुआ होता है। इस प्वॉइंट के छिदने पर दिमाग का विकास तेजी से होता है। साथ ही दिमाग भी तेज बनता है। इसलिए बच्चों के छोटी उम्र में ही कान छेद देने चाहिए। ताकि उनके दिमाग का विकास सही तरह से हो सके।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close