लाइफस्टाइलहेल्थ

इन वजहों से हो सकता है आपको Heart का खतरा!

नई दिल्ली (लोकसत्य)। पहले जहां हृदय रोग को ओल्ड एज की बीमारी ही समझा जाता था, लेकिन वहीं आजकल लोग 30-35 साल के युवाओं को भी हार्ट की बहुत ही गंभीर बीमारियां होने लग रही हैं। ऐसे में किसी भी व्यक्ति की उम्र, फैमिली की हिस्ट्री और साथ ही सेहत से जुड़ी दूसरी बीमारियों के अलावा भी एक और बेहद सबसे अहम चीज होती है जिसके कारण से हार्ट के रोग के जो मामले है वो एक दम तेजी से बढ़ रहे हैं और वो है आपकी लाइफस्टाइल। जी, हाँ फैमिली हिस्ट्री यानी की माता-पिता से विरासत में मिली बीमारियों के लिए आप कुछ भी नहीं कर सकते है लेकिन आप अपनी जीवनशैली में सुधार करके आप अपने दिल को बीमार होने से जरूर ही बचाव् कर सकते हैं।

स्ट्रेस यानी की तनाव लगभग हम सभी की लाइफ का एक अहम हिस्सा बन गया है। ये तनाव किसी भी चीज से हो सकता है फिर चाहे वो प्रोफेशनल लाइफ की हो या फिर पर्सनल लाइफ की हो। ये जो स्ट्रेस होता है यानी की तनाव वो भले ही दिमाग से शुरू होता हो लेकिन इसका असर आपके पूरे शरीर पर ही पड़ता है और वो भी बहुत बुरा असर पड़ता है। जिन भी लोगों के शरीर में स्ट्रेस बहुत ज्यादा होता है तो उनका ब्लड प्रेशर अधिक ही बढ़ जाता है जिनसे उनकी धमनियां संकुचित हो जाती हैं और साथ ही हार्ट का रोग का खतरा भी बहुत ही अधिक बढ़ जाता है।

जिन भी लोगों का वजन बहुत ही अधिक हो जाता है या फिर जो लोग मोटापे का शिकार हो जाते हैं उनके शरीर में जो मौजूदा धमनियों होती है (रक्त नाली जो की शरीर के सारे अंग तक खून को पहुंचाती हैं) जिनमे फैटी मटीरियल जमा होने लग जाता है। इसके बाद हार्ट तक खून ले जाने वाली धमनियां के साथ साथ अगर अवरुद्ध हो जाएं या फिर क्षतिग्रस्त हो जाएं तो इसके कारण से भी हार्ट अटैक का भी बहुत ही खतरा हो जाता है। इस के साथ ही मोटापे के कारण से कोलेस्ट्ऱॉल, हाई बीपी और साथ ही डायबिटीज की भी बीमारी हो जाती है और फिर ये सारी चीजें हमारे हृदय रोग के लिए भी बहुत ही जिम्मेदार हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close