जम्मू कश्मीरदिल्लीदेशराज्य

सीमा पार घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी आयी

नयी दिल्ली (लोकसत्य)। जम्मू-कश्मीर में इस वर्ष सुरक्षा स्थिति में सुधार हुआ है और सीमा पार से घुसपैठ की घटनाओं में 43 फीसदी की कमी आयी है।  गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने आज लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा कि सरकार सीमा पार से घुसपैठ के खिलाफ ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर चल रही है और सुरक्षा बलों के प्रयासों से राज्य में पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष सुरक्षा की स्थिति में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की पहली छमाही की तुलना में इस वर्ष अब तक घुसपैठ की घटनाओं में 43 फीसदी की कमी आयी है। 
राय ने कहा कि केन्द्र सरकार ने सीमा पार घुसपैठ से निपटने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर बहुस्तरीय दृष्टिकोण अपनाया है। इसके तहत अंतर्राष्ट्रीय सीमा तथा नियंत्रण रेखा पर तैनाती बढाना , सीमा पर बाड़ लगाना, खुफिया तंत्र की मजबूती , अभियानों में तालमेल और सुरक्षा बलों को अत्याधुनिक हथियारों से लैस करना आदि शामिल है।
उन्होंने कहा कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर 2069 किलोमीटर लंबी बाड़ लगाने का निर्णय लिया गया था। इसमें से 2004.666 किलोमीटर बाड़ का काम पूरा हो चुका है और शेष 64.38 किलोमीटर अगले वर्ष मार्च तक पूरा हो जायेगा।
एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र में भी पिछले पांच वर्षों में सुरक्षा स्थिति में काफी सुधार हुआ है और उग्रवादी घटनाओं में 66 फीसदी की कमी आयी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में उग्रवाद से संबंधित 824 घटनाएं हुई थी , 212 असैनिकों की मौत हुई, 20 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 181 उग्रवादी मारे गये। इस वर्ष अब तक उग्रवाद की केवल 104 घटनाएं हुई , 16 असैनिकों की मौत हुई, 4 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 02 उग्रवादी मारे गये।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close