देश

आम बजट 2020: मेडिकल डिवाइस पर मिलने वाले टैक्स से बनेंगे नये अस्पताल, हेल्थ सेक्टर में खर्च होंगे 65 हजार करोड़

नई दिल्ली, लोकसत्य। केंद्र सरकार ने मेडिकल डिवाइस पर लगने वाले टैक्स का उपयोग अस्पताल में बनाने में करने का फैसला किया है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में पेश बजट में इसका प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि मेडिकल डिवाइस से मिलने वाले टैक्स का उपयोग अस्पताल बनाने पर किया जाएगा।

उन्होंने टीबी की बीमारी को समूल नष्ट करने की बात भी बजट भाषण के दौरान कही। उन्होंने कहा कि ‘टीबी हारेगा, देश जीतेगा’ ये अभियान लॉन्च किया गया है। 2025 तक इसे भारत से खत्म किया जाएगा। 69 हजार करोड़ रुपये हेल्थ सेक्टर के लिए है।

फिट इंडिया मूवमेंट को बढ़ावा देगी सरकार

फिट इंडिया मूवमेंट को बढ़ावा देने के लिए सरकार बड़े कदम उठा रही है। आयुष्मान भारत योजना में अस्पतालों की संख्या को बढ़ाया जाएगा ताकि टी-2, टी-3 शहरों में मदद पहुंचाई जाएगी। केंद्र सरकार की ओर से चलाए जा रहे इंद्रधनुष मिशन का विस्तार किया जाएगा। पीएम जनआरोग्य योजना के तहत 20 हजार से ज्यादा अस्पताल पैनल में हैं। हम इसे बढ़ाएंगे। पीपीपी मोड में अस्पताल बनाए जाएंगे। 112 जिलों को इसमें तवज्जो दी जाएगी। इससे बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा।

फुट ऐंड माउथ से जुड़ा रोग, पीपीआर की बीमारी 2025 तक खत्म हो जाएगी। दीनदयाल अंत्योदय योजना में 58 लाख एसएचजी (सेल्‍फ हेल्‍प ग्रुप) बने हैं। इन्हें मजबूत बनाएंगे। इन 16 स्कीम के लिए फंड 2.83 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

—  

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close