देशबड़ी खबरें

जेटली की हालत नाजुक, ईसीएमओ में शिफ्ट किये गये

नयी दिल्ली (लोकसत्य)। भारतीय जनता पार्टी भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय वित्तमंत्री अरूण जेटली हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। हालत अधिक खराब होने के बाद रविवार को जेटली को वेंटिलेटर से हटाकर एक्सट्राकॉर्पोरियल मेंब्रेन ऑक्सीजिनेशन (ईसीएमओ) पर शिफ्ट किया है। जेटली के हृदय और फेफड़े सही ढंग से काम नहीं कर रहे हैं, लिहाजा उन्हें ईसीएमओ पर रखा गया है।

9अगस्त से जेटली को एम्स में वेंटिलेटर पर रखा गया था। ​सीने में शिकायत होने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था। जेटली को कॉर्डियो-न्यूरो सेंटर के आईसीयू में भर्ती है। 

गौरतलब है कि जेटली के स्वास्थ्य के बारे में एम्स ने 10 अगस्त से कोई मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं किया है। उनके स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए हाल के दिनों में कई बड़े नेताओं ने अस्पताल का दौरा किया।

रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, रामविलास पासवान, संघ प्रमुख मोहन भागवत, हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्रा, आरएसएस संयुक्त महासचिव डॉ. कृष्ण गोपाल और समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए एम्स गए।

इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृहमंत्री अमित शाह, बसपा सुप्रीमो मायावती, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जेटली से मिलने एम्स पहुंचे।

जेटली 2014 से 2019 तक देश के वित्तमंत्री रहे। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए के दुबारा सत्ता में आने के बाद जेटली ने खराब स्वास्थ्य के कारण मंत्री नहीं बनाने का अनुरोध प्रधानमंत्री से किया था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पहले कार्यकाल में उनकी कैबिनेट का महत्वपूर्ण हिस्सा थे।

बाताते चालें कि पिछले साल 14 मई को एम्स में उनके गुर्दे का प्रतिरोपण हुआ था। पिछले साल अप्रैल की शुरुआत से ही वे कार्यालय नहीं आ रहे थे और वापस 23 अगस्त 2018 को वित्त मंत्रालय आए। लंबे समय तक मधुमेह रहने से वजन बढ़ने के कारण सितंबर 2014 में उन्होंने बैरिएट्रिक सर्जरी कराई थी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close