देशबड़ी खबरें

शाह ने गुजरात में समर्थकों के साथ लिया पतंगबाजी का आनंद…

अहमदाबाद (लोकसत्य) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पतंगोत्सव के रूप में मशहूर गुजरात के प्रमुख पर्व उत्तरायण के मौके पर आज यहां एक ऊंची छत से समर्थकों के साथ न केवल पतंग उड़ाया बल्कि इसमें दांवपेंच की अपनी महारत दिखाते हुए कई पतंग भी काट डाले।शाह, जो भाजपा के अध्यक्ष और गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र के सांसद भी हैं, पत्नी सोनलबेन के साथ अपने संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाले वेजलपुर विधानसभा क्षेत्र के आनंदनगर में कनककला सोसायटी की एक अपार्टमेंट की छत पर शाम सवा पांच बजे आये और पतंगबाजी का आनंद लिया। उनके साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी और कई विधायक और अन्य नेता भी थे। शाम सवा पांच बजे जब शाह वहां पहुंचे तो बड़ी संख्या में मौजूद समर्थकों ने फूलों की पंखुड़ियां फेंक कर उनका स्वागत किया।मूल रूप से अहमदाबाद के निवासी शाह हर साल उत्तरायण के मौके पर परिवारजनों और समर्थकों के साथ पतंग उड़ाते रहे हैं।

छत पर चढ़े शाह की एक झलक पाने के लिए आसपास की इमारतों पर भी बड़ी संख्या में लोग जुट गये थे। शाह के साथ समर्थक दो तिरंगे लेकर भी चल रहे थे। उन्होंने हाथ हिला कर तथा विजय चिन्ह बनाते हुए लोगों का अभिवादन किया। उन्होंने पहले केसरिया गुब्बारे भी उड़ाये और बाद में उत्तरायण के मौके पर बनने वाली विशेष मिठाइयों का भी आनंद लिया। इसके बाद जब वह पतंग उड़ाने उठे तो एक सामान्य गुजराती, जो उत्तरायण की पतंगबाजी के दौरान सबकुछ भूल कर उसमें ही तल्लीन हो जाता है, की तरह उसमे रम गये। उनकी फिरकी यानी डोर की रील पहले वाघाणी ने पकड़ी थी पर बाद में इसे पत्नी सोनलबेन ने ले लिया। शाह ने खूब पेंच लड़ाये और कुछ पतंग भी काट डाले। लोगों ने ताली बजा कर उनका स्वागत किया।

इससे पहले मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने भी अहमदाबाद में मेयर बीजलबेन पटेल के घर तथा एक अन्य स्थान पर तथा बाद में गृहनगर राजकोट में दोस्तो के साथ छत से पतंगबाजी का आनंद लिया।ज्ञातव्य है कि गुजरात में 14 और 15 जनवरी को क्रमश: उत्तरायण और वासी उत्तरायण के तौर पर मनाया जाता है और इस मौके पर हर जगह लोग छतों से पतंग उड़ाते नजर आते हैं। दो दिनों तक पतंगबाजी को छोड़ कर सामान्य जीवन एक तरह से ठप हो जाता है। लोगों सुबह से शाम तक छतों पर ही रहते हैं जहां दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ पतंगबाजी का आनंद लेते हैं। इस मौके पर सभी सब्जियों को मिला कर बनने वाले उंधियू, जलेबी, तिल की चिकी, चावल के लड्डू आदि व्यंजनों का भी आनंद लिया जाता है। बड़े बड़े कलाकार, गायक, अभिनेता वगैरह भी छतों पर पतंगबाजी का आनंद लेते देखे जाते हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close