स्पोर्ट्स

दीपक चोट के कारण फाइनल से हटे, रजत से करना पड़ा संतोष

नूर सुल्तान, (लोकसत्य)। जूनियर विश्व चैंपियन पहलवान दीपक पुनिया को सीनियर विश्व कुश्ती प्रतियोगिता के 86 किग्रा फ्रीस्टाइल ओलंपिक वजन वर्ग के फाइनल से रविवार को टखने की चोट के कारण हट जाना पड़ा और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा। दीपक का इसके साथ ही विश्व प्रतियोगिता के इतिहास में भारत को दूसरा स्वर्ण पदक दिलाने का सपना टूट गया।

दीपक ने अपनी स्पर्धा में भारत को टोक्यो ओलंपिक 2020 का कोटा दिला दिया था और उन्हें फाइनल में ईरान के हसन आलियाजाम याजदानीचराती से भिड़ना था लेकिन उन्होंने फाइनल से कुछ घंटे पहले चोट के कारण मुकाबले से हटने का फैसला किया। दीपक इस तरह स्वर्ण से दूर रह गए और 2010 में लीजेंड पहलवान सुशील कुमार की स्वर्णिम सफलता का इतिहास नहीं दोहरा सके।

जूनियर विश्व चैंपियनशिप में देश को 18 साल बाद स्वर्ण पदक दिलाने वाले दीपक सीनियर चैंपियनशिप में भारत को नौ साल बाद स्वर्ण पदक दिलाने के करीब पहुंच कर भी दूर रह गए। विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में भारत का एकमात्र स्वर्ण पदक सुशील ने 2010 में जीता था। द्रोणाचार्य अवार्डी महाबली सतपाल के शिष्य दीपक ने सेमीफाइनल में स्विटजरलैंड के स्टीफन रेचमुथ को एकतरफा अंदाज़ में 8-2 से पराजित कर फाइनल में प्रवेश किया था और अपना नाम भारतीय कुश्ती के इतिहास में दर्ज करा लिया था। विश्व के नंबर एक पहलवान बजरंग पुनिया ने पिछले साल रजत पदक जीता था।

दीपक को विश्व चैंपियनशिप में उतरने से पहले ही अंगूठे और कंधे की चोट थी लेकिन उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल का सफर तय किया था। वह इस प्रतियोगिता के फाइनल में पहुँचाने वाले एकमात्र भारतीय थे। दीपक ने फाइनल से हटने के बाद अफ़सोस के साथ कहा, “मेरा बायां पैर पूरा वजन नहीं ले पा रहा था और ऐसी स्थिति में लड़ना बहुत मुश्किल था। मैं जानता हूं कि मेरे लिए यह बड़ा मौका था लेकिन मैं कुछ नहीं कर सकता, इसलिए मैं काफी निराश हूं। इसके बावजूद मैं यहां अपने ओवरआल प्रदर्शन से खुश हूं। मैं अब कड़ी मेहनत करूंगा और मेरा अगला लक्ष्य टोक्यो ओलम्पिक में देश के लिए पदक जीतना है।”

दीपक कैडेट विश्व चैंपियन, जूनियर विश्व चैंपियन और सीनियर विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता बन गए हैं। दीपक ने कल प्रतियोगिता में अपने मुकाबलों में शानदार शुरूआत करते हुये क्वालिफिकेशन में कजाखिस्तान के आदिलेत दावलमबाएव को 8-6 से, प्री क्वार्टरफाइनल में ताजिकिस्तान के बखोदर कोदिराेव को 6-0 से, क्वार्टरफाइनल में कोलंबिया के कार्लाेस आर्तुरो को नजदीकी मुकाबले में 7-6 से और सेमीफाइनल मे स्विटजरलैंड के स्टीफन रेचमुथ को आसानी से 8-2 से हराया था। इस बीच आज राहुल अवारे को 61 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक के लिये उतरेंगे। अवारे का वजन वर्ग गैर ओलंपिक वजन वर्ग है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close