उत्तराखंड

एम्स में ब्लड ट्रांसफ्यूजन सर्विसेस ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू

ऋषिकेश ( उत्तराखंड)। एम्स ऋषिकेश में सोमवार को पांच दिवसीय ब्लड ट्रांसफ्यूजन सर्विसेस ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू हो गया। जिसमें उत्तराखंड के ब्लड बैंकों के चिकित्साधिकारियों को रक्तदान से जुड़ी सेवाओं के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।
डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन एंड ब्लड बैंक के तत्वावधान में आयोजित पांच दिवसीय ट्रेनिंग प्रोग्राम के मौके पर एम्स निदेशक प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि रक्तदान को महादान कहा जाता है। चूंकि स्वस्थ रक्तदाताओं से ही रक्त को एकत्रित किया जा सकता है,लिहाजा सभी को जरुरतमंद लोगों के जीवन के संरक्षण के लिए रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए।

राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संस्थान नाको, उत्तराखंड स्टेट एड्स कंट्रोल सोसाइटी यूसेक्स व एम्स ऋषिकेश की ओर से आयोजित कार्यशाला का डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता, एमएस डा.ब्रह्मप्रकाश,प्रो. ब्रिजेंद्र सिंह, एम्स रक्तकोष विभागाध्यक्ष डा. गीता नेगी व अपर परियोजना निदेशक यूसेक्स डा. अर्जुन सिंह सेंगर ने संयुक्तरूप से शुभारंभ किया।
कार्यशाला के पहले दिन ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन एंड ब्लड बैंक विभागाध्यक्ष डा.गीता नेगी, डा. अर्जुन सिंह सेंगर,डा.दलजीत कौर, डा. सुशांत कुमार मीनिया,डा. आशीष जैन, डा. संजय उप्रैती आदि विशेषज्ञ चिकित्सकों ने राज्य के विभिन्न जनपदों से आए चिकित्सकों को नेशनल ब्लड पॉलिसी, ब्लड बैंक की लाइसेंस प्रक्रिया, ब्लड बैंक चिकित्सा अधिकारियों के कार्य व दायित्व के अलावा ब्लड बैंक से जुड़ी कानूनी जानकारियां दी। आयोजन में सीनियर रेजिडेंट डा. ईशा, डा. पंदीप, डा. शैकत,डा. सारिका,डा. ईश्वर,डा.जॉइसा देव,एमएसडब्ल्यू दिनेश चंद्र आदि ने सहयोग किया।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close