उत्तराखंड

कुंभ मेले के अस्थायी कार्यों के संबंध में बैठक

हरिद्वार ( उत्तराखंड)। कुम्भ मेला अधिकारी दीपक रावत ने आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल, एसएसपी मेला जन्मेजय खण्डूरी, एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अबुदई के साथ कुम्भ में किये जाने वाले अस्थाई कार्यो के सम्बंध में विभागों की एक बैठक सीसीआर सभागार में ली। बैठक में समस्त विभागों के अस्थाई कार्यो के प्रस्ताव प्रजेंटेशन सहित मांगे गये।
मेलाधिकारी ने सभी विभागों को निर्देश दिये कि कोई भी विभाग ऐसे निर्माण कार्य प्रस्तावित न करें जिसमें भीड़ नियंत्रण अनावश्यक हों, सभी निर्माण कार्यो के स्थलों का भौतिक निरीक्षण अवश्य कर लें। साइनेज लगाने पर विशेष ध्यान रखें। आयुष विभाग सभी पद्धतियों की चिकित्सा के लिए सुसज्जित केंद्र बनायें। उत्तराखण्ड की जड़ी बूटियों, योग और आध्यात्मिक पहचान वाला वर्ल्ड क्लास वेलनेस सेंटर स्थापित किये जाने का प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें।
सभी ने अपने आवश्यक अस्थाई कार्य तथा अनुमानित बजट मेलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत किये। स्वास्थ्य विभाग ने 500 करोड़ के स्थाई कार्यो के अतिरिक्त बाइक एम्बुलेंस, राफट एम्बुलेंस तथा पुलिस विभाग ने 31 करोड़ के अस्थाई कार्य जिनमें खोया पाया केंद्र व अन्य कार्य, वन विभाग ने स्मृति वन, गेस्ट हाउस, सिंचाई विभाग ने 38 करोड़ की लागत से सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में 55 घाटों की मरम्मत, अस्थाई घाटों की व्यवस्था, घाटों पर चेन, सड़क, घाटों पर पेंटिग, सफाई रैम्प निमार्ण आदि कार्य प्रस्तवित किये।
लोक निर्माण विभाग ने 17 अस्थाई पुलों, साइनेज तथा रूड़की नगर निगम ने रोड निर्माण, सेनिटेशन, स्ट्रीट लाइट, नाले-नालियों का निर्माण, अण्डरग्राउंड डस्टबिन, मोबाइल टॉयलेट, डबल आर्म पोल, क्रेन कीटनाशक आदि 35 करोड के कार्य प्रस्तावित किये। पेयजल विभाग ने वाटर टेंक, हैण्ड पम्प, अस्थाई जलापूर्ति, आरओ सिस्टम सहित 88 करोड़ के कार्य प्रस्तावित किये।
जल संस्थान ने टेंकरों के खरीददारी, वाहन व्यवस्था, किराये पर टेंकर, ओवर हैड टैंक, टंकियों पर पेंटिंग, पम्प सेट सहित 15 करोड़ के कार्य प्रस्तावित किये। विद्युत विभाग ने 30 करोड़ के कार्य, उपकरण आदि तथा हरिद्वार रूड़की विकास प्राधिकरण ने डेªेसिंग लेवलिंग, पब्लिक वॉल तथा चैराहे, पुलों पर रोशनी, फव्वारे आदि 27 करोड़ के कार्य प्रस्तावित किये।
बैठक में समस्त विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close