उत्तराखंड

फिक्की फलो की ओर से चर्चा कार्यक्रम का हुआ आयोजन

देहरादून(उत्तराखंड)। एक स्थाई वातावरण के लिए महिला उद्योगपति एवं महिला उद्यमि किस तरह से अपना योगदान दे सकती है इस विषय पर त्रिकोण सोसायटी एवं फिक्की फलो की ओर से चर्चा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रमुख वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख जयराज मौजूद थे।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जयराज ने कहा कि चिपको आंदोलन तब उत्तराखण्ड की मजबूत ग्रामीण महिलाओं का चलाया आंदोलन था और आज भी ऐसे ही एक आंदोलन की आवश्यकता है। बल्की आज भी वर्तमान में स्थायी वातावरण के कारण महिला उद्यमी, महत्वपूर्ण योगदान कर रही है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही त्रिकोण सोसायटी की चेयरपर्सन एवं फिक्की फलो की ज्वाइंट सक्रेटरी डा. नेहा शर्मा ने कहा कि उत्तराखण्ड में महिला और पर्यावरण का बहुत गहरा रिश्ता रहा है। यहां पर कई आंदोलन इसके गवाह रहे है। िक्की की चेयरपर्सन नजिया इज्जुददीन ने कहा कि एकमात्र वुमेन चैंबर अॅाफ कॉमर्स होने के कारण यह हमारा मिशन है कि हम अपने सभी सदस्यों, महिला उद्योगपतियों, उद्यमियों और पेशेवरों का नेतृत्व करें और ड्राइव करें, ताकि पर्यावरण के अनुकूल व्यवहारों को आगे बढ़ाया जा सक।
फिक्की फलो की वरिष्ठ उपाध्यक्ष किरण भट्ट ने कहा कि हम आश्वस्त हैं कि महिला उद्यमी पर्यावरण और आर्थिक विकास को चला सकती हैं, लेकिन केवल तभी जब वे अपने अधिकारों को महसूस करने में सक्षम हों और यदि हम वैश्विक मूल्य श्रृंखलाओं में अपने अवसरों और परिणामों को बेहतर बनाने के लिए व्यवसाय, सरकार और नागरिक समाज की साझेदारी में काम करें।
इस अवसर पर कोषाध्यक्ष रुचि जैन ज्वाइंट कोषाध्यक्ष राशी सिंघल आदि मौजूद थे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close