उत्तराखंड

मुनस्यारी में पुलिस के खिलाफ सड़कों पर लोग

पिथाैरागढ़ (लोकसत्य)। विधायक के साथ मुनस्यारी में विभिन्न संगठनों के लोग पुलिस के खिलाफ सड़कों पर उतरे। व्यापारी की बेरहमी से पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई न होने से गुस्साए लोग थाने का घेराव करने पहुंचे। लेकिन पुलिस ने बैरिकेटिंग कर लोगों को अंदर आने से रोक दिया। जिसके बाद लोगों ने सड़क पर ही धरना शुरू कर दिया। विधायक हरीश धामी ने कहा जब तक दोषी पुलिसकर्मियों को अपने किए की सजा नहीं मिलती शांत नहीं बैठेंगे।
मुनस्यारी में पुलिस ने 14अक्तूबर को व्यापारी विक्रम जंगपांगी की बेरहमी से पिटाई कर दी थी। पुलिस की मार से पीड़ित के पेट में इतनी गहरी चोट आई कि उसे उपचार के लिए दिल्ली पहुंचाना पड़ा था। इस घटना के बाद मुनस्यारी में थानाध्यक्ष सहित अन्य पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग उठने लगी। लेकिन एक सप्ताह से अधिक समय बीतने के बाद भी किसी तरह की कार्रवाई न होने से नाराज महिला मंगल दल, व्यापार संघ सहित विभिन्न संगठन के लोग मंगलवार को सड़कों पर उतर गए। गुस्साए लोग नवनिर्वाचित जिपं अध्यक्ष जगत मर्तोलिया के नेतृत्व में थाने का घेराव करने पहुंचे।
इस दौरान विधायक हरीश धामी भी लोगों के इस आंदोलन में शामिल रहे। लेकिन पुलिस ने थाने पहुंचने से पहले ही बैरिकेटिंग लगाकर लोगों को अंदर आने से रोक दिया। इसके बाद आक्रोशित लोग सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। जगत मर्तोलिया ने कहा पुलिस को किसी भी व्यक्ति की बेरहमी से पिटाई करने का अधिकार नहीं है। अकारण व्यापारी को पीटकर अस्पताल पहुंचाया गया है। कहा जिस तरह कानून तोड़ने वाले लोगों को सजा मिलती है, कानून अपने हाथ में लेने वाले पुलिसकर्मियों को भी सजा मिलनी चाहिए।
लोगों ने कहा पुलिस अपने कर्मचारियों की गलती पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है, जिसे किसी भी कीमत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस दौरान लोगों ने पुलिस, प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे लगाए। चेतावनी देते हुए कहा शीघ्र दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया गया तो चुप नहीं बैठेंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close