उत्तर प्रदेश

ईपीसीए ने प्रदूषण नियंत्रण के लिए बनाया ग्रेप प्लान

अधिकारियों ने बैठक कर प्रभावी क्रियान्वयन का खाका किया तैयार

मेरठ, लोकसत्य
बचत भवन में पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण अधिकरण (ईपीसीए) नई दिल्ली द्वारा प्रदूषण की रोकथाम के लिए बनाये गये ग्रेडेड रिसपोन्स एक्षन प्लान (ग्रेप) को जनपद में प्रभावी ढ़ग से लागू करने की तैयारी शुरू हो गई है।
इस संबंध में आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने कहा कि सभी संबंधित विभाग ग्रेप में दिये गये निर्देषों का शत प्रतिषत अनुपालन कराना सुनिष्चित करें तथा प्रदूषण नियंत्रण में सहयोग करे। उन्होंने नगर निगम अधिकारियों को कूड़ा निस्तारण व नगरीय ठोस अपषिष्ट नियम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए तथा एमडीए व आवास विकास परिषद के अधिकारियों को निर्माण स्थल पर निर्माण सामग्री का खुले में भण्डारण न हो यह सुनिष्चित करने तथा नियमित रूप से निर्माण स्थल पर पानी का छिड़काव कराने के लिए निर्देषित किया। उन्होंने उप्र प्रदूषण नियंत्रण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों को दिन और रात उद्योगो से होने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करते हुये निगरानी करने के लिए निर्देषित किया तथा कहा कि यह भी सुनिष्चित किया जाये कि प्रतिबंधित ईधन का प्रयोग न किया जाये। अपर जिलाधिकारी वित्त सुभाष चन्द्र प्रजापति ने कहा कि परिवहन विभाग यह सुनिष्चित करें कि 15 वर्ष से अधिक के चार पहिया पैट्रोल वाहन तथा 10 वर्ष से अधिक के चार पहिया डीजल वाहन का पंजीकरण न कराने तथा डेडीके्रट फे्रट कारिडोर द्वारा निर्माण स्थल पर धूल उडाने व प्रदूषण करने के लिए उनको नोटिस देने के लिए निर्देषित किया। उन्होंने सभी संबंधित विभागों को ग्रेप में दिये गये निर्देषों के अनुपालन के लिए एक-एक नोड़ल अधिकारी नामित कर उसकी सूचना उप्र प्रदूषण नियंत्रण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों को देने के लिए निर्देषित किया।
इस अवसर पर नगर मजिस्टेªेट संजय पाण्डेय, क्षेत्रीय अधिकारी उप्र प्रदूषण नियंत्रण कंट्रोल बोर्ड आरके त्यागी, एआरटीओ श्वेता वर्मा सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close