दिल्लीराज्य

ऑनलाइन सर्विस बढ़ाने पर फोकस करें तीनों निगम:बैजल

नई दिल्ली, (लोकसत्य)। दिल्ली के उप-राज्यपाल ने तीनों निगमायुक्तों को डिजिटल इंडिया के लक्ष्य के अनुरूप जन्म और मृत्यु प्रमाण-पत्र जारी करने के लिए ऑनलाइन सेवाओं को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

उप-राज्यपाल ने कहा कि डिजिटल इंडिया के लक्ष्य के अनुरूप ऑनलाइन प्रमाण-पत्रों की उपलब्धता आज की जरूरत है, जिसके लिए सरल प्रक्रिया और यूजर्स फ्रेंडली ऑनलाइन सेवाओं के व्यापक प्रचार की आवश्यकता है जिससे नागरिकों तक घर बैठे सभी सेवाएं उपलब्ध हो सके। इस संदर्भ में उप-राज्यपाल ने सभी निगमों को वर्तमान सॉफ्टवेयर को उन्नत कर उसमें अतिरिक्त सुविधाएं जैसे जन्म प्रमाण-पत्र में नाम को जोड़ने एवं उसे सुधारने की सुविधा आदि भी उपलब्ध कराने को कहा है।

उप-राज्यपाल ने निगमायुक्तों को संबंधित उप-रजिस्ट्रारों के काम-काज की समीक्षा करने और अस्पतालों में भी इस तरह की सुविधा का विस्तार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने निगमायुक्तों को यह सुनिश्चित करने की भी सलाह दी कि अस्पताल में जन्में बच्चों की जन्म प्रमाण-पत्र की प्रथम प्रति उनके अभिभावक को डिस्चार्ज के समय निःशुल्क उपलब्ध करा दी जाए।

उप-राज्यपाल बैजल ने कहा कि प्रधानमंत्री के विजन ‘इज आफ लिविंग’ को प्रोत्साहन देने के लिए दिल्ली नगर निगम को ऑनलाइन मोड के माध्यम से सेवाओं को उपलब्ध कराना चाहिए। यह उल्लेखनीय है कि जन्म और मृत्यु प्रमाण-पत्र उपलब्ध कराना नगर निकायों का प्रमुख कार्यों में से एक है। दिल्ली में लगभग 10 लाख जन्म/मृत्यु प्रमाण पत्र प्रतिवर्ष जारी किए जाते हैं। वर्ष 2016 से, सभी शहरी निकायों द्वारा इन प्रमाण-पत्रों को ऑनलाइन जारी करने की व्यवस्था की गई है।

आंकड़ों के अनुसार पिछले वर्ष तीनों नगर निगमों द्वारा कुल 10,09,873 जन्म/मृत्यु प्रमाण-पत्र जारी किए गए जिनमें से 2,49,368 (24 प्रतिशत) ऑनलाइन एवं शेष प्रमाण-पत्र ऑफ लाइन जारी किए गए।

उप-राज्यपाल ने सभी नगर निगमों को ऑनलाइन सेवा के उपयोग और इसके विस्तार पर ध्यान देने एवं इसका व्यापक प्रचार तथा नियमित निगरानी करने का निर्देश जारी किया जिससे कि नागरिकों को किसी परेशानी का सामना न करना पडें और उन्हें घर बैठे यह सेवाएं उपलब्ध हो सके।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close