चुनावराज्य

Assam में मुख्यमंत्री पद को लेकर अनिर्णय की स्थिति में भाजपा

गुवाहाटी (लोकसत्य)। Assam में भारतीय जनता पार्टी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सत्ता में आये दो दिन बीत गये लेकिन अभी तक भगवा पार्टी नये मुख्यमंत्री का नाम तय नहीं कर पायी है।

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और भाजपा एवं मंत्रिमंडल में उनके कनिष्ठ सहयोगी दोनों ही इस हॉट सीट पर दावेदारी कर रहे हैं जिसके कारण नये मुख्यमंत्री की नियुक्ति का मामला उलझ गया है।

दिलचस्प तथ्य यह है कि दिल्ली स्थित भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने भी इस मामले में चुप्पी साध रखी है। चुनाव अभियान के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एवं भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सर्वश्री सोनोवाल एवं हिमंता विश्व शर्मा को बराबरी का दर्जा दिया था तथा कहा कि चुनाव परिणाम आने के बाद मुख्यमंत्री का नाम तय किया जाएगा।

सूत्रों ने बताया कि शर्मा ने अब तक करीब 50 विधायकों के समर्थन होने का दावा किया है। भाजपा नीत गठबंधन ने 72 सीटों पर जीत हासिल की है जिनमें भाजपा ने केवल अपने बूते 60 सीटों पर विजय हासिल की है।

सूत्रों ने बताया कि भाजपा का केंद्रीय संसदीय बोर्ड जल्द ही एक पर्यवेक्षक की नियुक्ति करेगा जो विधायकों से बातचीत करेंगे। इसके बाद पर्यवेक्षक से प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व नये मुख्यमंत्री का नाम तय कर सकता है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close