राज्यहिमाचल प्रदेश

खेल छात्रावास हिमाचल से जम्मू बदले जाने का फैसला अन्यायपूर्ण :कांग्रेस

शिमला, (लोकसत्य)। हिमाचल कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने बिलासपुर के खेल छात्रावास को जम्मू बदले जाने के फैंसले पर हैरानी जताते हुए कहा है कि यह फैंसला प्रदेश के युवाओं से एक बड़ा धोखा होगा। इस प्रकार का अन्याय सहन नहीं किया जा सकता।
उन्होंने आज यहां कहा कि बिलासपुर स्थित इस खेल छात्रावास में प्रदेश के ग्रामीण एवं प्रतिभाभान छात्र छात्राओं को अपनी प्रतिभा निखारने का पूरा अवसर प्रदेश में ही मिलता था। इस छात्रावास को यहां से किसी अन्य राज्य में स्थानांतरित किया जाता हैं तो यह प्रदेश के बॉलीबाल प्रेमियों के साथ एक बड़ा अन्याय होगा।
उल्लेखनीय है कि इस छात्रावास में वालीबाल के साथ-साथ कबड्डी और एथलेटिक्स का प्रशिक्षण दिया जाता रहा है और हिमाचल के तत्कालीन मुख्यमंत्री के अथक प्रयासों से 1986-87 में भारतीय खेल प्राधिकरण (एससआई) ने इस तरह का पहला खेल छात्रावास बनाया था और पिछले छह माह से हिमाचल सरकार की लापरवाही से यहां पर कोई कोच की व्यवस्ता भी नहीं हो पाई थी जो प्रदेश सरकार की खेल के विषय में उदासीनता को दर्शाता है राठौर ने कहा कि इस गंभीर विषय पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, केंद्र सरकार के खेल मंत्री और भारतीय खेल प्राधिकरण को पत्र लिखकर अपना विरोध दर्ज किया है। इस परिसर को यहां से स्थानांतरित करने पर खेल प्रेमियों को तो घाटा होगा तथा इन खेलों से जुड़े रोजगार पर भी असर पडेगा।

उन्होंने कहा कि केंद्र के इस प्रस्तावित फैंसले पर प्रदेश सरकार को भी अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। उन्होंने ठाकुर से आग्रह किया है कि केंद्र के इस प्रकार के फरमान को पूरी तरह नकारते हुए प्रदेश के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय न होने दें। फिर भी ऐसा होता है तो कांग्रेस चुप बैठने वाली नहीं। कांग्रेस हर स्तर पर प्रदेश सरकार के या केंद्र सरकार के प्रदेश व जनविरोधी फैंसलो का विरोध करेगी।



Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close