गुजरातराज्य

मासिकधर्म को लेकर स्वामीनारायण संप्रदाय के संत का विवादित बयान

अहमदाबाद (लोकसत्य)। भुज स्थित सहजानंद कॉलेज की छात्राओं के कपड़े उतरवा कर माहवारी की जांच का मामला अभी शांत नहीं हुआ था कि कच्छ के एक संत ने मासिक धर्म को लेकर विवादित बयान दिया है।माहवारी में हों ऐसी महिलाओं के हाथ भोजन नहीं करने के बयान से लोगों में आक्रोश फैल गया है।कच्छ के स्वामीनारायण मंदिर के संत स्वामी कृष्णस्वरूप ने सोमवार को अपने अनुयायियों को संबोधित करते हुए कहा कि माहवारी में हो ऐसी महिला के हाथ की बनी रसोई खाने से पुरुष का दूसरा जन्म बैल के रूप में होगा। भले ही यह बात किसी कड़वी लगे, लेकिन यह सच्चाई है। मासिक धर्म में हो ऐसी महिला अपने घर में रसोई बनाकर पति को खिलाती है, उसका अगला जन्म श्वान योनी में होगा।

कृष्णस्वरूप ने कहा कि संत इस बारे में बताने से इंकार करते हैं, लेकिन नहीं बताएंगे तो पता कैसे चलेगा। माहवारी के दौरान महिलाओं को रसोई से दूर रहना चाहिए, वर्ना नरक जाने को तैयार रहना होगा। स्वामीनारायण संत ने कहा कि यह वह नहीं बल्कि शास्त्र कहता है। गौरतलब है कच्छ जिले के भुज स्थित सहजानंद गर्ल्स कॉलेज की छात्राओं के कपड़े उतरवा कर माहवारी की जांच की गई थी। जिसे लेकर गुजरात समेत देशभर में हंगामा हुआ था। राष्ट्रीय महिला आयोग पिछले दो दिनों से छात्राओं से पूछताछ कर रही है। इस मामले में पुलिस ने कॉलेज प्रिन्सिपल समेत चार लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close