दिल्लीराज्य

प्रदूषण के खिलाफ अभियान में दशहरा समितियां एकजुट

नई दिल्ली, (लोकसत्य)। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रदूषण के खिलाफ किए जा रहे प्रयास व जागरूकता के परिणाम सामने आने लगे हैं। सीएम की अपील का नतीजा है कि पिछले पांच साल में दशहरा पर मंगलवा को सबसे कम वायु प्रदूषण हुआ। जिसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर सभी रामलीला समितियों को दशहरा पर पटाखे कम जलाने के लिए दी बधाई दी।

मुख्यमंत्री ने पहले ही सर्दियों में पराली जलने और पटाखों के कारण वायु गुणवत्ता बिगड़ने की समस्या से निपटने के लिए 7 सूत्री कार्य योजना और 5 सूत्री शीतकालीन कार्य योजना की घोषणा की है। 50 लाख मास्क की खरीद शुरू हो गई है और ऑड ईवन योजना पर काम किया जा रहा है। दिल्ली सरकार ने दिवाली की पूर्व संध्या पर होने वाले सामुदायिक दिवाली कार्यक्रम के लिए लोगों को जागरूक करना शुरू कर दिया है। जिससे लोग पटाखे न जलाए। वह त्योहार के लिए एक साथ आए और लेजर शो का आनंद ले। सीएम अरविंद केजरीवाल ने लोगों से भी अपील किए थे कि पटाखों का इस्तेमाल न करें। दशहरा के दिन लोग बड़े पैमाने पर पटाखा जलाते रहे हैं। लेकिन मुख्यमंत्री की अपील के बाद लोगों ने पटाखे से इस दशहरा किनारा किया। इसी कारण दशहरा के दिन दिल्ली का वायु प्रदूषण पिछले पांच साल में सबसे कम रहा।

उन्होंने लिखा है कि समाज में कोई भी बड़ा बदलाव लोगों के सहयोग के बिना संभव नहीं होता। डेंगू और प्रदूषण दोनों को ही कम करने में हमें जो सफलता मिली है, वो सभी लोगों के सहयोग से ही हो पाया है।

दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की नवीनतम रैंकिंग में टॉप टेन में 7 भारतीय शहर हैं। जबकि दिल्ली इस सूची में 11 वें स्थान पर है। शीर्ष 3 भारतीय शहर गुरुग्राम, गाजियाबाद और फरीदाबाद हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल पहले ही प्रदूषण से निपटने और लोगों को राहत देने के लिए 7 सूत्रीय कार्य योजना और 5 सूत्रीय शीतकालीन कार्य योजना की घोषणा कर चुके हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close