राज्य

पहले योगी और मेरठ के एसपी को डीरैडिकलाइज किया जाए: ओवैसी

हैदराबाद, (लोकसत्य)। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की कट्टरता खत्म करने की जरूरत है। ओवैसी ने यह सुझाव देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत के ‘युवाओं में कट्टरवाद’ खत्म करने वाले बयान पर दिया है।
नई दिल्ली में आयोजित दो दिवसीय रायसीना डायलॉग प्रोग्राम में जनरल बिपिन रावत से पूछा गया अगर देश में कट्टरता के खिलाफ अभियान कारगर साबित नहीं हो रहा है तो आतंकवाद पर काबू कैसे पाया जा सकता है?

इसके जवाब में सीडीएस ने कहा, ‘जो लोग पूरी तरह कट्टर बन चुके हैं, उनसे काम शुरू करना होगा। उन्हें कट्टरता के खिलाफ कार्यक्रमों में शामिल करना होगा। जम्मू-कश्मीर में लोगों को कट्टर बनाया गया। 12 साल के लड़के-लड़कियों को भी कट्टरता का पाठ पढ़ाया जा रहा है। इन लोगों को धीरे-धीरे कट्टरता से दूर किया जा सकता है। इसके लिए डीरैडिकलाइजेशन कैंप बनाना होगा।’

असदुद्दीन ओवैसी ने एक ट्वीट में कहा, ‘यह उनका पहला हास्यास्पद बयान नहीं है। नीतियां नागरिक प्रशासन बनाता है न कि कोई जनरल। नीतियों और राजनीति पर बात करके वह नागरिक संप्रभुता की अनदेखी कर रहे हैं।’ ओवैसी ने एक दूसरा ट्वीट करके कहा, ‘लिंचिंग करने वालों और उनके आकाओं का डीरैडिकलाइजेशन कौन करेगा? उनका क्या जो असम के बंगाली मुसलमानों की नागरिकता का विरोध कर रहे हैं? संभवत: ‘बदला’ योगी और ‘पाकिस्तान जाओ’ मेरठ के एसपी को डीरैडिकलाइज किया जाए? उन लोगों को डीरैडिकलाइज किया जाए जो एनपीआर-एनआरसी के माध्यम से हम पर मुसीबतें थोपने वाले हैं?’

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close