दिल्लीराज्य

स्वच्छ्ता संकल्प के साथ निकली ‘भगवान सालिग्राम’ की भव्य बारात

नई दिल्ली, लोकसत्य। अंतर्राष्ट्रीय महात्यागी खालसा के श्री महंत एवं महामण्डलेश्वर श्री राम गोविन्द दास महात्यागी जी महाराज के पावन सानिध्य में ‘देवोत्थान एकादशी’  पर तुलसी विवाह के भव्य समारोह का आयोजन हुआ। विवाह समारोह श्री सीताराम सन्तसेवा मन्दिर एवं गौ सेवा सदन में आयोजित हुआ। इस अवसर पर ‘भगवान सालिग्राम’ की बारात स्वच्छ्ता संकल्प व ढोल नगाड़ों के साथ निकाली गई जिसमें काफी संख्या में क्षेत्र के धर्म प्रेमी श्रद्धालु शामिल हुए।  जिन्होंने बारात प्रारम्भ होने से पूर्व महाराज जी के सानिध्य में स्वच्छता का संकल्प भी लिया गया।

भगवान सालिग्राम की बारात प्रातः 5 बजे चन्दू पार्क स्थित श्री सीताराम सन्त सेवा मन्दिर से चल कर न्यू लायलपुर, आराम पार्क, सोम बाजार, पुरानी अनारकली होते हुए ‘तुलसी विवाह स्थल’  ( श्री सीताराम सन्त सेवा मन्दिर एवं गौ सेवा सदन) पर प्रातः 7 बजे वापिस  पहुंची। जहां पर पूरे विधि-विधान के साथ भगवान सालिग्राम की तुलसी के साथ विवाह की रस्म पूरी हुई। बारात का क्षेत्र में श्रद्धालुओं द्वारा जगह-जगह पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया।  

इस अवसर पर महामण्डलेश्वर श्री राम गोविन्द दास महात्यागी महाराज ने उपस्थित धर्म प्रेमी श्रद्धालुओं को कार्तिक महातम व देवोत्थान (प्रबोधिनी) एकादशी के महातम की कथा सुनाई। महात्यागी महाराज ने बताया क़ि वर्तमान कलिकाल में भी देवोत्थान (प्रबोधिनी) एकादशी पर जो मनुष्य भगवान विष्णु की कृपा का पात्र बनने के उद्देश्य से स्वच्छता का ध्यान रखते हुए स्नान, दान, जप और होम करता है उसे सौ जन्मों के पापों से छुटकारा मिल जाता है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close