दिल्लीराज्य

पिता की बेईज्जती होने पर कुछ नहीं कर पाया, तो खुद को ही लगा ली आग

नई दिल्ली (लोकसत्य)। सरेआम पिता की पिटाई करने वाले मनचले बदमाशों और उन्हें बढ़ावा देने वाली पुलिस के लापरवाह रवैये से आहत 1 बेटे के खुद को आग की लपटों के हवाले कर देने वाले वीडियो ने देखने वालों के भीतर तक सिहरन पैदा कर दी थी। दिल्ली के प्रेम नगर के रहने वाले 24 वर्षीय आशु ने शुक्रवार को प्रेम नगर थाने में फेसबुक पर लाइव वीडियो बना कर खुद को आग लगा ली। दुनिया देखती रह गई, लेकिन कोई कुछ नहीं कर पाया। आशु ने अपने इस फैसले के पीछे प्रेम नगर पुलिस को जिम्मेदार ठहराया दिया गया था। इस घटना ने लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आशु के साथ ऐसा क्या हुआ था कि उसने थाना परिसर में इतना बड़ा कदम उठा लिया? हर बेटे की तरह आशु भी अपने पिता और उनके मान-सम्मान से बेहद प्रेम करता था। दशहरे के दिन जब देशभर के लोग मेले-झूले का आनंद ले रहे थे, तब आशु और उसके पिता के साथ अनजाने में ऐसी घटना हो गई जिसके कारण आग में झुलसा हुआ आशु आज सफदरजंग अस्पताल में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहा है। दशहरे की शाम आशु अपने पिता यादराम के साथ मेला देखने गया था। भीड़-भाड़ में आशु का कंधा अमनदीप और हरदीप से टकरा गया, जिससे अमनदीप के हाथ से मोबाइल गिरकर टूट गया। इस पर दोनों युवक गुस्सा हो गए और बीच रास्ते में सबके सामने आशु और उसके पिता की पिटाई कर दी। आशु ने प्रेम नगर थाने में इसकी शिकायत की।

पुलिस ने केस दर्ज किया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। इससे आरोपियों का मन बढ़ता गया और वे यादराम को पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देने लगे। आशु के परिवार में लोगों को डर लग रहा था, लेकिन पुलिस के कान पर जूं नहीं रेंग रही थी। आशु ने जांच अधिकारी हवलदार संदीप को फोन पर धमकी की जानकारी देनी चाही, लेकिन उन्होंने आशु का फोन नहीं उठाया। आरोपी युवकों ने आशु और उसके पिता पर सरेआम अपमानजनक टिप्पणी की। आशु ने सबकुछ देखा-सुना, लेकिन कुछ नहीं कर पाया। इनसब के बाबजूद पुलिस का लापरवाह रवैया उसे और परेशान कर रहा था। अपने पिता का ऐसा अपमान देख वह भावुक हो गया। इसके बाद बेबस आशु सीधा प्रेम नगर थाने पहुंचा और किरासन तेल डाल कर खुद को आग लगा ली। इस घटना के बाद आशु के परिवार वालों के साथ-साथ इलाके के लोगों का भी गुस्सा फूट पड़ा। सैकड़ों की संख्या में लोग शनिवार को प्रेम नगर थाने पहुंचे और जमकर प्रदर्शन किया। लोग इस घटना के दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। थाने पर पहुंचे सैकड़ों लोगों को पुलिस ने पहले ही बेरीकेड लगाकर रोक दिया था। बाद में आशु के पिता ने पुलिस से युवकों और उनके पिता के खिलाफ शिकायत की। वहां पहुंचे जिले के आला पुलिस अधिकारियों ने लोगों को शांत कराया और आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया गया है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close