बिहारराज्य

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत को लेकर Bihar Assembly में वामदलों का हंगामा

पटना (लोकसत्य)। बिहार विधानसभा में आज पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत, महंगाई, जहरीली शराब से मौत और मैट्रिक परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक होने के मामले को लेकर विपक्ष के सदस्यों ने हंगामा किया।

विधानसभा की कार्यवाही सोमवार को पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होते ही भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी लेनिनवादी (भाकपा माले) के सत्यदेव राम ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और महंगाई के मुद्दे को उठाया। सभाध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा, “आप अभी जो विषय उठा रहे हैं उसके लिए समय निर्धारित है। अभी प्रश्नकाल का समय है उसे होने दिया जाए।”

भाकपा माले के साथ ही भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के सदस्य बढ़ती महंगाई और पेट्रोल डीजल की कीमत में हो रही बेतहाशा वृद्धि के मुद्दे पर सदन में तुरंत चर्चा कराने की मांग पर अड़े रहे। सभाध्यक्ष ने उनकी मांग पर ध्यान नहीं दिया और प्रश्नकाल जारी रखने का निर्देश दिया तब वामदलों के सदस्य सदन के बीच में आकर शोरगुल और नारेबाजी करने लगे।

सभा अध्यक्ष सिन्हा ने कहा कि 76 में से 73 प्रश्न के उत्तर ऑनलाइन माध्यम से आ चुके हैं। दो प्रश्नों को संबंधित विभाग को स्थानांतरित कर दिया गया है। प्रश्नकर्ता सदस्य सदन में आने से पूर्व ऑनलाइन माध्यम से मिले उत्तर को पढ़ लें और उसके बाद सदन में पूरक प्रश्न पूछे। उन्होंने अल्पसूचित प्रश्न पूछने के लिए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के ललित यादव का नाम पुकारा । इसपर यादव ने कहा कि सदन अभी व्यवस्थित नहीं है इसलिए सभा अध्यक्ष पहले सदन को व्यवस्थित करें तभी वह प्रश्न कर पाएंगे।

सदन में शोरगुल के बीच ही जब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव अपनी बात कहने के लिए खड़े हुए तब सभा अध्यक्ष ने शोरगुल और नारेबाजी कर रहे सदस्यों से अपनी सीट पर जाने का आग्रह करते हुए कहा कि अव्यवस्थित सदन में नेता प्रतिपक्ष अपनी बात रख सकेंगे। कृपया आप अपनी सीट पर जाएं और नेता प्रतिपक्ष को बोलने का मौका दें। इसके बाद भी भाकपा-माले के सदस्य सदन के बीच में ही डटे रहे, हालांकि उन्होंने इस बीच नारेबाजी कम कर दी तब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि अति गंभीर विषय को लेकर कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया गया है इसलिए कार्य स्थगन प्रस्ताव को मंजूर किया जाए।

यादव ने कहा कि मैट्रिक परीक्षा के सोशल साइंस विषय का प्रश्नपत्र लीक होने के बाद आज एक बार फिर हिंदी का प्रश्नपत्र लीक हुआ है। उन्होंने कहा कि बिहार में मैट्रिक की परीक्षा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की तर्ज पर लिए जाने का दावा किया जाता है लेकिन सीबीएसई का प्रश्नपत्र कभी लीक नहीं होता है, जबकि बिहार बोर्ड का प्रश्न पत्र बार-बार लीक होता है । यहां बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। यह एक गंभीर मामला है।

नेता प्रतिपक्ष ने गोपालगंज जहरीली शराब कांड के मामले को भी उठाया और कहा कि मुख्यमंत्री अभी सदन में ही मौजूद हैं और वह आश्वस्त करें कि इस मामले में दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और ऐसी घटना आगे नहीं होगी। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और महंगाई को लेकर विपक्ष के सदस्यों की मांग जायज है। इस पर सदन में तुरंत चर्चा होनी चाहिए। पहले भी कई बार प्रश्न काल को स्थगित कर जनहित के मुद्दों पर सदन में चर्चा हुई है इसलिए कार्यस्थगन प्रस्ताव को मंजूर किया जाए।

सभाध्यक्ष ने कहा कि इन विषयों के लिए समय निर्धारित है। अभी प्रश्नकाल का समय है इसलिए प्रश्नकाल को होने दिया जाए । उन्होंने कहा कि सदन सार्थक विमर्श के लिए है । इससे लोकतंत्र मजबूत होगा, इसलिए वह सभी सदस्यों से आग्रह करते हैं कि उचित समय पर ही उचित मुद्दों को उठाएं।

शोरगुल के बीच ही प्रश्नकाल जारी रहा और इस दौरान राजद के ललित यादव के प्रश्न के उत्तर में वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि प्रक्रियात्मक वजहों से संक्षिप्त आकस्मिक व्यय विपत्र (एसी बिल) और विस्तृत आकस्मिक व्यय विपत्र (डीसी बिल) देने में देर होती है लेकिन 31 मार्च तक सभी एसी-डीसी बिल को जमा करने का निर्देश विभाग को दिया गया है। यादव ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2018-19 का भी अभी तक एसी-डीसी बिल जमा नहीं हुआ है क्या सरकार इसके लिए दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करेगी । इस पर वित्त मंत्री ने कहा कि 31 मार्च तक सभी एसी डीसी बिल जमा कर दिए जाएंगे।

चीनी मिलों पर किसानों के बकाए के भुगतान से संबंधित प्रश्न के उत्तर में गन्ना उद्योग मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि एक हफ्ते में किसानों को भुगतान करने का आदेश चीनी मिल मालिकों को दिया गया है। किसानों के बकाया की भुगतान नही होने पर नीलामी की प्रक्रिया की जाएगी। मढ़ौरा चीनी मिल बंद होने और किसानों की बकाया राशि के मामले पर मंत्री कुमार ने कहा कि न्यायालय में केस अभी लंबित है। उसके फैसले का इंतजार है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close