बिहारराज्य

Samastipur flood: 35 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में लगी फसल हुई बर्बाद

समस्तीपुर (लोकसत्य)। बिहार में बागमती, कोसी, कमला, करेह, नून और बूढ़ी गंडक नदी के उफान से आई बाढ़ के कारण समस्तीपुर जिले में 35 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में लगी अलग-अलग तरह की फसल की क्षति हुई है।

आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि जिले मे बाढ़ के कारण कृषि क्षेत्र में भी भारी नुकसान हुआ है। जिले मे आई बाढ़ से करीब 35 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में लगी करोड़ो रुपए मुल्य की विभिन्न प्रकार की फसलें बर्बाद हो गई है। कृषि विभाग द्वारा बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों मे फसल क्षति का सर्वे कराया गया है और इसकी रिपोर्ट सरकार को भेज दी गई है।

इधर बागमती, कोसी, कमला, करेह, नून और बूढ़ी गंडक नदी से आई बाढ़ ने जिले के कल्याणपुर, शिवाजीनगर, सिंधिया, बिथान, हसनपुर, खानपुर, सरायरंजन, मोरबा और विभुतिपुर प्रखंडों के 117 से अधिक गांवों मे भारी तबाही मचाई है। तीन लाख से अधिक की जनसंख्या बाढ़ से प्रभावित है। बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में सैकड़ों कच्चे मकान के क्षतिग्रस्त होने की भी सूचना है, जिसके कारण लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

इस बीच लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के स्थानीय सांसद प्रिंस राज और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता एवं पूर्व मंत्री बैद्यनाथ सहनी ने सरकार से समस्तीपुर जिले को बाढ़ग्रस्त क्षेत्र घोषित करने की मांग की है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close