उत्तर प्रदेशराज्य

झटका: नहीं रद्द होगी Aditi Singh की विस सदस्यता

लखनऊ (लोकसत्य)। कांग्रेस अध्यक्ष Sonia Gandhi के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में उत्तर प्रदेश के दो बागी विधायकों Aditi Singh और राकेश सिंह की विधानसभा सदस्यता रद्द करने संबंधी याचिका सोमवार काे खारिज कर दी गयी है।
विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने याचिका खारिज करते समय कहा कि दल बदल कानून के उल्लघंन के पर्याप्त साक्ष्य कांग्रेस उपलब्ध नहीं करा सकी है। इसलिये ये याचिकायें खारिज की जाती है।
कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने रायबरेली सदर विधायक Aditi Singh और हरचंदपुर सीट से विधायक राकेश सिंह के खिलाफ दल-बदल कानून के तहत सदस्यता खत्म करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष याचिका दाखिल की थी। याचिका खारिज होने के बाद अदिति सिंह और राकेश सिंह कांग्रेस के विधायक बने रहेंगे।
याचिका खारिज होने के बाद Aditi Singh ने ट्वीट किया “ सत्य परेशान हो सकता है पराजित नहीं। ”
आराधना मिश्रा ने Aditi Singh की सदस्यता समाप्त करने के लिए पिछले साल 26 नवंबर को याचिका दी थी। अदिति पर पार्टी व्हिप के उल्लंघन का आरोप है। पिछले साल दो अक्टूबर को उन्होने योगी सरकार के बुलाए गए विशेष सत्र में हिस्सा लिया था जबकि पार्टी ने गांधी जयंती पर सरकार के इस विशेष सत्र का बहिष्कार करते हुए विधायकों के लिए व्हिप जारी किया था। अदिति तमाम मौके पर पार्टी विरोधी रुख अपनाती रही हैं।
कांग्रेस ने पिछले साल ही रायबरेली में हरचंदपुर के विधायक राकेश सिंह की सदस्यता रद करने के लिए याचिका दी थी। उन पर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी सोनिया गांधी के विरोध का आरोप है। राकेश सिंह भाजपा में शामिल हो चुके एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह के सगे भाई हैं। दिनेश प्रताप सिंह को भाजपा ने लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ रायबरेली से मैदान में उतारा था।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close