उत्तर प्रदेशकला-संस्कृतिराज्य

श्रीराम जन्मभूमि पूजन कार्यक्रम में तन से नहीं बल्कि मन से रहूंगा उपस्थिति :Vasudevanand

प्रयागराज(लोकसत्य)। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य Swami Vasudevanand Saraswati ने कहा कि अयोध्या में पांच अगस्त को दिव्य और भव्य राम मंदिर मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन के कार्यक्रम में वह नहीं जा पायेंगे लेकिन मानसिक तौर पर अपनी उपस्थिति रामलला के दरबार में दर्ज करायेंगे।

Swami Vasudevanand ने कहा कि चातुर्मास पूजा अनुष्ठान के कारण वह अयोध्या नहीं जा पा रहे हैं। मानसिक रूप से वह अयोध्या में भूमि पूजन के दौरान रहेंगे जबकि भौतिक और शारीरिक रूप से प्रयागराज के अपने आश्रम में रहेंगे।

श्रीमद् ज्योतिषपीठाधीश्वर ने भूमि पूजन के संबंध में कहा कि जो त्रेता युग में नहीं हुआ वह अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा भव्य एवं दिव्य श्रीराम मंदिर के लिए भूमि पूजन के रूप में होने जा रहा है।

उन्होंने बताया कि पूरा देश श्री राम जन्मभूमि मुक्ति और निर्माण के लिए सदियों से संघर्ष करता रहा है। महान तपस्वी साधकों, संतो और भक्तों तथा सभी विचारधारा के लोगों के श्रम सद्भाव एवं सहयोग से तथा जीवित और शहीद हुए श्री राम कार सेवकों के बलिदान से यह अद्भुत क्षण आया है।

Swami Vasudevanand ने कहा श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के गठन से अभी तक जो भी हुआ और हो रहा है वह सब ठीक है। अयोध्या जाने वाले संत एवं भक्त भूमि पूजन के लिये संगम की माटी और जल जरूर लेकर जायें।

उन्होंने भक्तों को प्रेषित अपने संदेश में कहा कि अति उमंग और उत्साह में भूमि पूजन में ना जाकर अपने घरों, मंदिरों एवं आश्रमों में ही रहकर भगवान राम के जन्म स्थान पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए अपने अपने इष्ट देवों की पूजा करें।

उन्होने कहा कि भूमि पूजन का टीवी के माध्यम से अपने घरों में पूजन कार्यक्रम का दर्शन करें और संभव हो तो इस अद्धुत घड़ी में रामचरित मानस का पाठ करें।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close