पश्चिम बंगालराजस्थानराज्य

गहलोत, पायलट,वसुंधरा तथा ममता की नेताजी को श्रद्धांजलि

जयपुर (लोकसत्य)। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज़ाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की पुण्यतिथि पर आज उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। 
इस अवसर पर गहलोत ने ट्वीट कर नेताजी को विनम्र श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि हमारे स्वतंत्रता संग्राम के दिग्गज सुभाष चंद्र बोस के स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान स्पष्ट आह्वान ने साथी भारतीयों को देश के लिए सर्वोच्च बलिदान करने के लिए प्रेरित किया। उनकी वीरता और उद्देश्य की शक्ति प्रेरणा का स्रोत बनी हुई है।
पायलट ने भी ट्वीट कर नेताजी को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा “जय हिंद एवं तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा” जैसे नारों के माध्यम से देशवासियों में देशप्रेम और क्रांति की लहर का संचार करने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की पुण्यतिथि पर मैं उन्हें श्रद्धापूर्वक नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।”
इसी तरह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी ट्वीट कर सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि देते हुए कहा “आज़ाद हिन्द फौज के संस्थापक एवं महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की पुण्यतिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि।”
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने  नेताजी सभाष चंद्र बोस को माटी का महान सपूत बताया और उनकी पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।
बनर्जी ने सोशल मीडिया पर लिखा, “नेताजी ने आज ही के दिन 1945 में ताइवान के ताइहोकू हवाई अड्डे से विमान में सवार हुए और उसके बाद हमें हमेशा के लिए छोड़ कर चले गये। हमें आज तक यह नहीं पता चल पाया है कि उनके साथ क्या हुआ। लोगों को माटी के महान सपूत के बारे में जानने का हक है। ”
आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार वर्ष 1945 के इस दिन नेताजी ताइवान में दुर्घटनाग्रस्त हुए लड़ाकू विमान मित्सुबिशी केआई-21 पर सवार थे। हालांकि मुखर्जी आयोग ने 2005 की अपनी रिपोर्ट में कहा था कि नेताजी को तत्कालीन सोवियत संघ (अब रूस) बच निकलने के लिए विमान दुर्घटना की झूठी कहानी रची गयी थी। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने मुखर्जी आयोग की रिपोर्ट को खारिज कर दिया था।
देश के कई लोगों का मानना है कि 1985 तक उत्तर प्रदेश के फैजाबाद में रहे गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे। ऐसा इसलिए क्योंकि नेताजी की मृत्यु का आज भी एक रहस्य बना हुआ है।
एक सितंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने जापान सरकार की जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक किया, जिसमें बताया गया है कि नेताजी की मृत्यु ताईवान में विमान दुर्घटना में हुई थी। उनके कई समर्थकों का मानना है कि नेताजी विमान हादसे में बच गये थे और छिप कर रह रहे थे। 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close