उत्तर प्रदेश

हर दिन चार लोग हो रहे ऑनलाइन ठगी के शिकार

गोरखपुर, लोकसत्य। साइबर अपराधियों ने पुलिस की नींद उड़ा रखी है। रोजाना औसतन चार लोग किसी न किसी थाना क्षेत्र में ठगी के शिकार हो रहे हैं। आॅनलाइन फ्राड करने वाले अपराधी अपनी बातों से झांसे में लेकर गाढ़ी कमाई खाते से उड़ा रहे हैं। जिस रफ्तार से घटनाएं हो रही हैं, उसकी तुलना में साइबर अपराधी हत्थे नहीं चढ़ रहे।
साइबर अपराधी हाईटेक तरीके से बैंक खातों से रुपये उड़ा रहे हैं। सेना अधिकारी बन कर ओएलएक्स के माध्यम से अपराध की घटना में काफी इजाफा हुआ है। सेना अधिकारी का नाम सुनकर लोग आसानी से जाल में फंस जाते हैं। इसके अलावा पुरस्कार जीतने के नाम पर एसएमएस भेज लोगों से बैंक खाता नंबर और एटीएम पासवर्ड पूछ लेते हैं। इसके अलावा फर्जी चेक बना कर भी पैसे उड़ाए जा रहे हैं। ठगी की सूचना तब मिलती है जब बैंक एसएमएस भेज कर बताता है कि खाते से पैसे की निकासी हो चुकी है।
इस तरह बच सकते हैं साइबर अपराध से
बैंक अधिकारी कभी भी फोन कर डिटेल नहीं मांगते। इसलिए फोन पर कोई भी जानकारी किसी से साझा न करें।
किसी भी ऐसे लिंक को क्लिक न करें जो भरोसे के लायक न हो।
एटीएम में कार्ड उपयोग करने से पहले कार्ड डालने वाली जगह जांच कर लें। कहीं कोई उपकरण तो नहीं लगा है।
गूगल में किसी वेबसाइट के कस्टमर केयर का नंबर सर्च करने से बचें। कंपनी की अधिकृत वेबसाइट से ही नंबर खोजें।
सेकेंड हैंड सामान खरीदने से पहले सामान की सत्यता की जांच कर लें। हो सके तो सामान नकद ही खरीदें।
लॉटरी और पुरस्कार के चक्कर में न आएं। यह जरूर सोचें कि मुफ्त में कोई आपको कुछ क्यों देगा।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close