उत्तर प्रदेशराज्य

कोरोना से निपटने के योगी सरकार के प्रयास नाकाफी: अखिलेश यादव

लखनऊ, (लोकसत्य)। कोरोना संकट से निपटने के उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के प्रयासों को नाकाफी बताते हुये समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किसानों और गरीबों की मदद के लिये राजस्व वसूली रोकने और बैंक कर्ज पर ब्याज माफी समेत कई अन्य सुझाव दिये हैं। यादव ने शनिवार को कहा कोरोना महामारी की आपदा के समय जब किसानों के सामने आर्थिक संकट है। इस विपत्ति में फंसे लोगों से सभी राजस्व वसूली रोकी जाए, बैंक ऋणों पर ब्याज माफ हो।

कोरोना संकट सरकारी और गैर सरकारी प्रयासों के बावजूद अभी थम नहीं रहा है। इसके प्रति जनता को जागरूक करने के काम में मेडिकल कर्मी, मीडिया कर्मी, स्वयंसेवी संगठन तथा आवश्यक सेवाओं से जुड़े अन्य विभागीय कर्मचारी सराहनीय साहसिक ढंग से अपना कर्तव्य निभा रहे हैं लेकिन अचानक लाॅकडाउन से कुछ समस्याएं भी सामने आ रही हैं जिनकी ओर अभी सरकारी तंत्र अपेक्षित ध्यान नहीं दे रहा है।

उन्होने कहा कि सरकार बड़े-बड़े दावे तो कर रही है लेकिन हकीकत में कोई इंतजाम नहीं है। गोण्डा, बलरामपुर, प्रयागराज समेत कई जिलों में क्वारंटाइन सेंटर बदहाली का शिकार है। जिन लेखपालों के जिम्मे भोजन एवं स्वास्थ्य सामाग्रियों की जिम्मेदारी है वे नदारद मिल रहे हैं। उन्होने सवाल किया कि अव्यवस्था के इस आलम में कोरोना से जंग कैसे जीती जाएगी।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के सत्तारूढ़ होने के बाद किसानों की आफत का दौर शुरू हुआ जो थमने का नाम नहीं ले रहा है। किसानों के उत्पाद मण्डी तक पहुंचाने की व्यवस्था हो। फल, सब्जी का उचित मूल्य मिले, खेतों में खड़ी फसलों के काटने की व्यवस्था हो। गन्ना किसानों का पूरा बकाया भुगतान तत्काल कराया जाये। किसान सम्मान राशि बंद है। उसे तत्काल शुरू किया जाये।

यादव ने कहा है कि बिना कार्ड धारक गरीबों को भी राशन के साथ हजार रूपए की आर्थिक मदद दी जाए, छात्र-छात्राओं की फीसमाफी की जाए तथा गरीब महिलाओं के लिए समाजवादी पेंशन का तुरन्त भुगतान किया जाए।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close