देशबड़ी खबरें

‘लॉकडाउन फेल’ बताने पर Ravi Shankar ने Rahul को घेरा, कहा झूठ न फैलाएं, दुनिया के आंकड़ों से तुलना करें

नई दिल्ली, (लोकसत्य)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के द्वारा लॉकडाउन के फेल होने के आरोपों पर बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की ओर से जवाब दिया गया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि राहुल गांधी बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं, लॉकडाउन को लेकर जो बयान दिया गया वो गलत है। रविशंकर प्रसाद ने उदाहरण देते हुए कहा कि दुनिया के टॉप 15 देशों की कुल आबादी 142 करोड़ है, भारत की आबादी 137 करोड़ है। इन पंद्रह देशों में 3 लाख 43 हजार से अधिक लोग मर गए हैं, लेकिन हमारे देश में 4 हजार के आसपास मौत हुई हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी सिर्फ झूठ फैला रहे हैं, अभी कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं है ऐसे में लॉकडाउन ही एक उपाय है। राहुल गांधी देश की एकता को खंडित करने वालों को बधाई दे रहे हैं, जो पूरी तरह से गलत है। जब से कोरोना की दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थिति आई है तबसे राहुल गांधी देश के संकल्प को इस लड़ाई के मामले में कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं।

रविशंकर प्रसाद ने कहा चुनाव में राहुल गांधी नीरव मोदी की बात कर रहे थे, लेकिन उनके साथी लंदन में नीरव मोदी की मदद कर रहे हैं। रविशंकर बोले कि भीलवाड़ा मॉडल का श्रेय राहुल गांधी को दिया गया, लेकिन वहां के सरपंच का कहना है कि यह मेहनत वहां के लोगों की है। केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया कि राहुल ने दावा किया कि वायनाड के मॉडल की स्वास्थ्य मंत्रालय ने तारीफ की है, लेकिन वायनाड को स्वास्थ्य मंत्रालय हॉटस्पॉट बता चुका है। प्रवासी मजदूरों के मसले पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यूपी-बिहार जैसे राज्यों में सैकड़ों की संख्या में ट्रेन चल रही हैं लेकिन महाराष्ट्र में काफी कम ट्रेनें जा रही हैं, जहां कांग्रेस की सरकार है।

राहुल गांधी की ओर से लगातार न्याय योजना की बात की जा रही है, ऐसे में रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस को पहले अपने राज्यों में इस योजना को लागू करनी चाहिए। इसके अलावा पेट्रोल-डीजल पर वैट बढ़ाने को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस शासित राज्यों की सरकारों को घेरा, रविशंकर ने सवाल किया कि क्या सभी मुख्यमंत्री राहुल गांधी की सलाह नहीं मान रहे हैं। आरोग्य सेतु को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अब इसे ओपन सोर्स कर दिया गया है, देश में 11 करोड़ लोग इसका इस्तेमाल कर चुके हैं। इसके अलावा दुनिया में इसकी तारीफ हो रही है, इसमें जो डाटा आता है वो 180 दिनों में वापस चला जाता है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close