विदेश

महिला को पीरियड के दौरान बैज लगाने को कहकर विवाद में फंसी कंपनी

टोक्यो (लोकसत्य)।महिला कर्मियों को पीरियड के दौरान खास तरह के बैज लगाने का आदेश देकर कंपनी ने मुसीबत मोल ले ली है। आदेश के बाद कंपनी की दुनिया भर में आलोचना हो रही है। कंपनी की तरफ से महिला कर्मियों को इस कारण दिया गया था ताकि स्‍टोर में आने वाले लोगों को पता चल सके कि उनके पीरियड्स चल रहे हैं। जापान का मशहूर स्‍टोर जो ओसाका में है, और इस मिशी काके के तौर पर प्रसिद्धि हासिल है, ने अपने यहां काम करने वाली लड़‍कियों को एक खास बैज पहनने को कहा है। इस बैच पर एक कार्टून सिएरी चान बना हुआ है जिसका अनुवाद होता है मिस पीरियड। इस डिपार्टमेंट स्‍टोर को अब दुनियाभर में विरोध झेलना पड़ रहा है। हालांकि यह बैज पहनना अनिवार्य नहीं है और इन्‍हें एग्जिक्‍यूटिव्‍स की तरफ से लांच किया गया था। इसका मकसद स्‍टाफ और ग्राहकों से उस समय महिला कर्मियों के साथ अच्‍छे बर्ताव को प्रोत्‍साहित करना है जब उनके पीरियड्स चल रहे हों। जनता की तरफ से कई शिकायतें एक एग्जिक्‍यूटिव की तरफ से इस बात का खुलासा किया गया कि पूर्व में जनता की तरफ से कई बार ऐसी शिकायतें आई थीं जिसमें इस प्‍लान का विरोध किया गया था।

कुछ लोगों ने शोषण की आशंका भी जताई थी तो वहीं कुछ का कहना था कि इस प्‍लान को लांच करने के पीछे किसी तरह का कोई खास मकसद नहीं था। एक कर्मी ने बताया कि कंपनी अब इस आइडिया पर फिर से विचार कर रही है और उसका मकसद कभी भी इस अनिवार्य योजना के तौर पर लांच करने का नहीं था। यह प्‍लान उस समय में लांच किया गया है जब देश में पहले ही खराब रवैये की वजह से महिला कामगारों की संख्‍या में कमी आ रही है।मिशी काके वह डिपार्टमेंट स्‍टोर है जो चार सेक्‍शंस में बटा हुआ है। इसमें एक एप के जरिए मासिक धर्म से जुड़ी अलग-अलग स्‍टेज के बारे में लोगों को जानकारी दी जाती है। अलग-अलग जोन पीरियड्स के लिए स्‍टोर में एक ब्‍लू जोन है जहां पर उन महिलाओं के लिए प्रोडक्‍ट्स होते हैं जिनके पीरियड्स ऑन हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close