उत्तर प्रदेशदिल्लीदिल्लीदेशबड़ी खबरेंराज्यविदेश

नार्थ अमेरिका की चोटी फतह कर भारत लौटी ITBP की DIG अपर्णा कुमार

नई दिल्ली, लोकसत्य। उत्तर प्रदेश कैडर की 2002 बैच की सीनियर आईपीएस अधिकारी और भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) की उप महानिरीक्षक (डीआईजी) अपर्णा कुमार ने नार्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट देनाली पर तिरंगा फतह कर इतिहास रचा है। 20310 फीट सबसे ऊंची चोटी (विश्व के सात महाद्वीपों की सबसे ऊंची चोटी) का आरोहण कर ‘सेवन समिट चैलेंज’ को पूरा करने के बाद आईटीबीपी डीआईजी (ट्रेनिंग), उत्तरी सीमांत मुख्यालय, देहरादून  
अपर्णा कुमार बृहस्पतिवार सुबह भारत लौटी और नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उनका बड़ी गर्मजोशी के साथ भव्य स्वागत किया गया।

आईजीआई एयरपोर्ट पहुंची डीआईजी
अपर्णा का स्वागत करते हुये बल के अफसर व एयरपोर्ट अधिकारी।

इसके अलावा डीआईजी अपर्णा कुमार का आईटीबीपी मुख्यालय पर सम्मान में एक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। कार्यक्रम में आईटीबीपी के महानिदेशक एस एस देसवाल ने उनकी इस चुनौतीपूर्ण कामयाबी पर मूमेंटो देकर सम्मानित भी किया। महानिदेशक देसवान डीआईजी अपर्णा कुमार को सम्मानित करते हुये कहा कि निश्चित रूप से आईटीबीपी और पूरे देश के लिए यह सम्मान का विषय है कि प्रथम आईपीएस व आईटीबीपी अधिकारी ने सेवन समिट चैलेंज सफलतापूर्वक पूर्ण कर इतिहास रचा है।


ITBP HQ में आयोजित सम्मान कार्यक्रम में बल के महानिदेशक एस एस देसवाल मूमेंटो देकर सम्मानित करते हुये।

सनद रहे कि आईटीबीपी देश में साहसिक खेलों के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाता रहा है। इसके जवान पर्वतारोहण और स्कीइंग में दक्ष होते हैं और बल ने अब तक 212 सफल पर्वतारोहण अभियानों का संचालन करके कीर्तिमान स्थापित किया है। आईटीबीपी साहसिक खेलों में निपुण होने के कारण ही हिमालयों में बचाव एवं राहत कार्यों में अग्रणी भूमिका निभाता रहा है। हाल ही में बल ने नंदा देवी ईस्ट पर्वत के पास मुश्किल हालातों में भी 20 हजार फीट से 7 पर्वतारोहियों के शवों को ढूंढ कर निकाला था जिसकी सराहना पूरे विश्व में हुई थी।

आईटीबीपी को पर्वतारोहण में अति विशिष्ट योगदान देने के लिए अब तक 7 पदमश्री और 12 तेनजिंग नोरगे अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। बल ने अब तक 4 बार एवरेस्ट पर आरोहण किया है जिसमें 2012 में  एवरेस्ट चोटी से सफलतापूर्ण स्कीइंग डाउन भी शामिल है।

आरोहण के वक्त ग्रुप साथियों द्वावा ली गई सेल्फी में उत्साह से लबरेज दिख रहीं डीआईजी अपर्णा कुमार।

अब ‘द एक्सप्लोरर ग्रैंड स्लैम’ 07 समिट के लिए नार्थ पोल का लक्ष्य

आईटीबीपी की देश के प्रति सेवा की यशस्वी परंपरा रही है। प्रशिक्षण और साहसिक गतिविधियां इसकी पहचान है। आईटीबीपी कर्मी जो उच्च तुंगता वाले इलाकों और हिमालयों पर तैनात रहते है उन्हें पर्वतारोहण और स्कीइंग संस्थान में प्रशिक्षण दिया जाता है। इस प्रकार विशिष्ट पर्वतारोहण आईटीबीपी कर्मियों के लिए एक आधारभूत गुण है। आईटीबीपी भारतीय अभियान के लिए प्री अंटार्टिका इंडक्शन प्रशिक्षण आयोजित करता है जिसमें उच्च तुंगता  स्नो/बर्फ में जीवित रहने की तकनीक के बारे में सिखाया और प्रशिक्षित किया जाता है। बल का कहना है कि नार्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी को फतह करने के बाद अब आईपीएस अधिकारी अपर्णा ‘द एक्सप्लोरर ग्रैंड स्लैम’ 07 समिट के लिए शेष बचे नार्थ पोल को लक्ष्य बना रही हैं।

आईपीएस अपर्णा कुमार की खास उपलब्धियां

-अपर्णा कुमार ने प्राथमिक पर्वतारोहण कोर्स का प्रशिक्षण अटल बिहारी वाजपेई इंस्टीट्यूट ऑफ माउंटेनियरिंग से मनाली 2013 में और एडवांस पर्वतारोहण कोर्स जुलाई 2014 में पूर्ण कियाI

-अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो तंजानिया पर अगस्त 2014 में पर्वतारोहण अभियान कियाI

-ऑस्ट्रेलिया और ओशिनिया की सबसे ऊंची चोटी कार्ड्स पिरामिड, इंडोनेशिया पर नवंबर 2014 में आरोहण कियाI

-जनवरी 2015 में साउथ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट अकंकागुआ, अर्जेंटीना में और अगस्त 2015 में यूरोप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एल्ब्रुस, रूस में चढ़ाई कीI

-अंटार्टिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट विंसन मैसिफ पर सफलता पूर्ण आरोहण

-मई 2016 में विश्व और एशिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर नॉर्थ साइड से सितंबर 2017 में विश्व की आठवीं सबसे ऊंची चोटी माउंट मानस्लू जो कि नेपाल में स्थित है। उसके बाद 13 जनवरी 2019 को साउथ पोल पर पहुंची।

-जून 2019 में माउंट देनाली नार्थ अमेरिका

Posted By: Bhupender Panchal

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close